Jashn Ye Azaadi ka

0
Jashn Ye Azaadi ka

तर्ज :तुम तो ठहरे परदेसी, साथ क्या निभाओगे




जश्न ये आजादी का

जश्न ये आजादी का , मिलकर हम मना

Mera Bharat Desh Mahan

0
Mera Bharat Desh Mahan

मेरा भारत देश महान


हवा यहाँ की दम घुटती है,
जनमानस का दुषित ज्ञान,
मुह में राम बगल में छुरी,
वाल

अब ऐसा हिंदुस्तान होना चाहिए....

0
21 -Oct-2016 shivendra bhanariya 15 August Poem 1 Comments  453 Views
अब ऐसा हिंदुस्तान होना चाहिए....

हर एक शख़्स की ज़ुबाँ पर एक ही नाम होना चाहिए
हाथों में तिरंगा दिलों में हिन्दुस्तान होना चाहिए

स्वतंत्रता दिवस

0
स्वतंत्रता दिवस

तिरंगा हमारे देश की,
आन बान और ,
शान है।
यही हमारी आजादी,
की पहचान है।
तिरंगे में बसता ,
हमारा अभि

हाँ मैं आजाद हिंदुस्तान लिखने आया हूँ

0
16 -Oct-2016 Vikas Kumar Giri 15 August Poem 9 Comments  1,434 Views
हाँ मैं आजाद हिंदुस्तान लिखने आया हूँ

भूखे, गरीब,बेरोजगार, अनाथो और लाचार की दास्तान लिखने आया हूँ
हाँ मैं आजाद हिंदुस्तान लिखने आया

Is writing is your passion?

Then join us to spread your creativity to world. Registration is absolutely free.