पुकार

4
10 -Apr-2017 Neha Sonali Agrawal 15 August Poem 0 Comments  170 Views
पुकार

सत्तर वर्ष पहले गूँजी थी एक शहनाई,
मैने ली थी स्वाभिमान की अंगड़ाई,
मुझ पर न्योछावर करी वीरों ने

||देखो क्या है हालत मेरे हिन्दूस्तान की ||

1
16 -Feb-2017 Abhishek Arya 15 August Poem 1 Comments  3,190 Views
||देखो क्या है हालत मेरे हिन्दूस्तान की ||

किस्मत हमारी लटक रही है जैसे पाव में पायल ,
भारत माँ विलख रही है जैसे दीन-दुखी घायल ,
जिस आँचल में

AAo, Aaj Hum Ahad Lein

0
27 -Jan-2017 Mohammad Abbas Dhaliwal 15 August Poem 0 Comments  135 Views
AAo, Aaj Hum Ahad Lein

Apne Bharat ko hum majboot, akhand banayenge,
duniya jisako salaam kare, hum aisa watan banayenge.
Bharashtachari nijaam se isako aazadi dilayenge
swachchhta se bharein hum, jehanon ko *shaffaf banayenge.
aao hum Bharatwasi, Yom-e-jamhuriya pai *

Hindustan Humara

0
19 -Jan-2017 gopal krishna 15 August Poem 0 Comments  309 Views
Hindustan Humara

चरण धूलि मस्तक पर, उन वीरो के लगा लगा,
थाल रंग, अबीर, गुलाल से नहीं, केसरिया से तू सजा सजा
बाँध माथे

Jashn Ye Azaadi ka

0
17 -Jan-2017 gopal krishna 15 August Poem 0 Comments  311 Views
Jashn Ye Azaadi ka

तर्ज :तुम तो ठहरे परदेसी, साथ क्या निभाओगे




जश्न ये आजादी का

जश्न ये आजादी का , मिलकर हम मना

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017