ऋतुराज

0
ऋतुराज

ऋतुराज
_______________
आ गया धरती के सिंगार का मौसम.....
उतर गए पेड़ों से, जर्जर सब पात
सिह

देखो आया ऋतुराज वसंत

0
देखो आया ऋतुराज वसंत

ऋतुराज वसंत

चारो ओर हरियाली है, नए फूल नई डाली है,
झूम रहा हर पत्ता-पत्ता, प्रकृति में खुशहाली ह

बसंत ऋतु आई , बसंत ऋतु आई

1
बसंत ऋतु आई , बसंत ऋतु आई

कोयल की कूक ,
अमराई में बौर होने की खबर लाई ,
बसंत ऋतु आई , बसंत ऋतु आई ।

सरसों की ओढ़नी में,
वसुंधर

Saraswati Maa Ki Kripa

0
Saraswati Maa Ki Kripa

सरस्वती माँ की कृपा,
बनी रहे सबपर।
विद्या और बुद्धि का हो संचार,
सरस्वती माँ की कृपा,
बनी रहे बर

Maa Saraswat tere chrno me

1
Maa Saraswat tere chrno me

शुभ दिन आया आज
बसन्त पन्चमी का
माँ सरस्वती तेरे चरणो मे
मै नमन करती हूं

तू है एक तेरे नाम

Is writing is your passion?

Then join us to spread your creativity to world. Registration is absolutely free.