Aur Kya Karte

0
05 -Jan-2017 रहस्य Bewafai Poems 0 Comments  102 Views
Aur Kya Karte

किसी और से दिल लगाते नहीं तो और क्या करते,
उसकी याद को भुलाते नही तो और क्या करते l
:::::::::::::::

कब तलक भ

Gawahi na de

0
05 -Jan-2017 रहस्य Bewafai Poems 0 Comments  66 Views
Gawahi na de

इस कदर मुस्कूरा की ऑखों में आंसू दिखाई ना दे,
ऐ वक्त! तू अब मेरी वफा मेरी मोहब्बत की गवाही ना दे l
:::

बेदर्द प्यार

0
29 -Dec-2016 Sweta Yadav Bewafai Poems 0 Comments  154 Views
बेदर्द प्यार

मत रूला अ सनम इतना कि, खुशियाँ मेरी नीलाम हो जाए ।
न गिरा इस कद्र अ जालिम कि, जिन्दगी मेरी आम हो जा

Sanam

0
Sanam

Na jane kyu chehra chhipa rakkha h,
jabki ghar ka pata sabko bata rakkha.
shayad hamara nam na ho us fehrist m,
jis fehrist ko ghar ke darvaje p laga rakkha h.
ye aj mosam m itni berukhi kyu h,
oh! sara makkhan to unhone galon p laga rakkha h.

हमराज

0
05 -Dec-2016 AJAY KUMAR Bewafai Poems 1 Comments  1,307 Views
हमराज

‘ हमराज ‘

जब कभी तनहाइयों से तेरी मुलाकात हो जाये,
मुझे याद कर लेना, तेरा हमसफ़र बन जाएगे I

जमा

Is writing is your passion?

Then join us to spread your creativity to world. Registration is absolutely free.