Unvan-need /Gonshla/ Nasheman

0
Unvan-need /Gonshla/ Nasheman

उन्वान -नीड़ /घोंसला /नशेमन
°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°

किसने तुम्हें सिखाया पंछी ,अपना नीड़ बनाना,
क्या अ

Panchhi

0
Panchhi

सुवह सुवह उठते ही पंछी, सुंदर गीत सुनाये
अपने इष्टदेव की जैसे ,ये चरण वंदना गाये
कल की चिंता इ

चिड़िया

0
05 -Nov-2016 Suresh Chandra Sarwahara Birds Poem 0 Comments  199 Views
चिड़िया

चिड़िया (बाल कविता)
____________________
चिड़िया रानी एक बनाओ
मेरे घर में घोंसला ,
तुम हो तो रहता

कुकड़ूँ कूँ

1
13 -Oct-2016 Suresh Chandra Sarwahara Birds Poem 0 Comments  152 Views
कुकड़ूँ कूँ

कुकड़ूँ कूँ
______________
लगा फूटने उजियारा तो
मुर्गा बोला कुकड़ूँ कूँ ,
कहता भोर हुई अब जागो

घोंसला

0
04 -Oct-2016 Suresh Chandra Sarwahara Birds Poem 0 Comments  198 Views
घोंसला

घोंसला (बाल कविता)

तिनका तिनका लाकर चिड़िया
बना रही शाखों पर घर,
कल इसमें चहकेगा जीवन
तब होगा

Is writing is your passion?

Then join us to spread your creativity to world. Registration is absolutely free.