BETI my HEART

0
26 -Mar-2017 Bijendra Aehsas Daughter Poems 0 Comments  135 Views
BETI my HEART

%%बेटी %%
महफिले थी सजी य़ारो,
मुश्यरे थी लगी यारो ..
किसी ने पुछा हमसे जो य़ारो-
अभी तक जो उलझा हु या

तू रात का ढल जाना है

5
22 -Mar-2017 Krïti Şoniya Daughter Poems 7 Comments  136 Views
तू रात का ढल जाना है

नई उमंगों की दुनिया
तेरी हँसी से खिल उठेगी
तेरे होने से होगी
चाँदनी की छटा
जिंदगी की हसीं सोहब

बेटी (दोहे)

0
19 -Mar-2017 Suresh Chandra Sarwahara Daughter Poems 0 Comments  60 Views
बेटी (दोहे)

बेटी ( दोहे)
__________________
बेटी घर के बाग की , एक कली मासूम।
पाकर झोंका प्यार का, झुक झुक जाती झूम

जब हिन्दुस्तान महकाएगी बेटी!

0
06 -Mar-2017 Thakur Gourav Singh Daughter Poems 0 Comments  77 Views
जब हिन्दुस्तान महकाएगी बेटी!

घर का आँगन,
तुलसी सी पावन
रात का काजल,
और भोर का आँचल
हर माँ की परछाई है बेटी!
शादी हो के जिस घर जा

Beti Bankr Janm Li Hun

0
26 -Feb-2017 Frista Daughter Poems 0 Comments  53 Views
Beti Bankr Janm Li Hun

"Bdiii driii bdiii sahmiii
Nazar ko fer naa paayi...
...
Jb chhuta mera pihr
Jb hui meri vidaai...
...
Hr nazar swaal the tab mere
Hr kisi ki jbaab thi mai...
...
Haarna tha khud ko
Jeetna tha sbko...
...
Isii vichaar me kuch

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view and vote contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017