वो पिता है....

0
08 -Jul-2017 Aakash Parmar Fathers Day Poems 0 Comments  45 Views
वो पिता है....

जब सो रहा था रातों को मैं,
मेरे चैन की दुआ कर रहा था कोई,
जब जा रहा था निवाला मुँह मैं,
अपने आप को तड

Pita...

0
28 -Jun-2017 Anju Goyal Fathers Day Poems 0 Comments  34 Views
Pita...

वट वृक्ष की शीतल छाँव है पिता
परिवार के अस्तित्व का आधार है पिता

माँ ममता की मूर्त तो पिता स

मेरी खता बता देता

0
27 -Jun-2017 रहस्य Fathers Day Poems 0 Comments  46 Views
मेरी खता बता देता

मेरी खता बता देता "रहस्य "
€€€€€€€€€€€€€

ऐसी बेबसी भरी जिन्दगी देने की वजह बता देता,
ऐसा क्या क

वो हैं मेरे पिता ...

0
16 -Jun-2017 satya saroj Fathers Day Poems 0 Comments  103 Views
वो हैं मेरे पिता ...

वो हैं मेरे पिता…
*************************
उंगली पकड़ के चलना सिखाया जिसने,
बचपन में घोड़ा बनके घुमाया जिसने
कं

गंदी कविता

0
03 -Mar-2017 Abhishek arya Fathers Day Poems 0 Comments  185 Views
गंदी कविता

महीने की पहली तारीख को ,
पाप जब मिलनेआते हैं!
मेरे घर के दरवाज़े - खिड़की ,
सिर्फ उनकी राहें तकते ह

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017