गंदी कविता

0
03 -Mar-2017 Abhishek arya Fathers Day Poems 0 Comments  124 Views
गंदी कविता

महीने की पहली तारीख को ,
पाप जब मिलनेआते हैं!
मेरे घर के दरवाज़े - खिड़की ,
सिर्फ उनकी राहें तकते ह

असली हीरो तो हमारेँ पापा ही होते है

0
16 -Jul-2016 Alok upadhyay Fathers Day Poems 0 Comments  351 Views
असली हीरो तो हमारेँ पापा ही होते है

सच कहूँ असली हीरो तो हमारेँ पापा ही होते है..,

भूख कितनी भी बडी हो पहले हमे खिलाते है,

खुद को कितन

पितृ-दिवस

0
21 -Jun-2016 Dr. Roopchandra Shastri Mayank Fathers Day Poems 1 Comments  176 Views
पितृ-दिवस




मेरे प्यारे पापा तुम

1
04 -Jun-2016 Madhu Fathers Day Poems 1 Comments  407 Views
मेरे   प्यारे पापा  तुम

मेरे प्यारे पापा तुम

नोट-इस कविता में अजन्मी तथा
जन्मी बेटी अपने पिता से अपनी
इच्छाएं व्यक्

श्रधान्जली

1
03 -Jun-2016 purnima sharma Fathers Day Poems 3 Comments  305 Views
श्रधान्जली

जब उदासी छा जाती थी
आप हँसा देते थे।
जब लड़कपन मे गलती हो जाती थी
आप समझा दिया करते थे ।
जब रातों

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017