Bin Beej Ka Phal Hai Kela

0
Bin Beej Ka Phal Hai Kela

बिना बीज का फल है केला
कुछ लम्बा - सा कुछ पतला,
कमर झुका कर तनिक बीच में
रहा उम्र अपनी बतला ।
सचम

Naarangi

0
Naarangi

लाल पीत रंगों से रंगी
फिर भी कहलाती नारंगी,
इसको खाओ तो मन भीतर
बजती खुशियों की सारंगी।
बाहर का

Jaamun Ka Fal Gunkaari

0
Jaamun Ka Fal Gunkaari

वर्षा आई गिरे पेड़ से
गदराए काले जामुन,
इन चिकने स्वादिष्ट फलों को
बीन रहे बच्चे चुन चुन।
खाक

Lichi Ki Madmast Bahaarein

0
Lichi Ki Madmast Bahaarein

तीखी गर्मी के जाते ही
वर्षा की जब पड़े फुहारें,
तब दिखती है बाजारों में
लीची की मदमस्त बहारें।

Angur

1
Angur

लटक रहे हैं हरे सुनहरे
बेलों पर कितने अंगूर,
ताक रहे हैं इनके गुच्छे
पेड़ों पर बैठे लंगूर।
कभ

Is writing is your passion?

Then join us to spread your creativity to world. Registration is absolutely free.