Maa ki lori...!!

0
11 -Sep-2016 pravin tiwari Good Night Poems 0 Comments  102 Views
Maa ki lori...!!

आजा तेरी पलकों में मैं ख्वाब सजाऊँ...!!
तू सोजा मेरे लाल मैं तुझे लोरी सुनाऊँ...!!

नींदीया रानी को म

Nidiya

0
Nidiya

निंदिया रानी, जरा चुपके से आना, निंदिया रानी,
निंदिया रानी, अंखियन में समाना, निंदिया रानी.
प्या

Ratri Bela

0
Ratri Bela

उत्तर में ध्रुव तारा चमका
रूप-दर्प से चंदा दमका
सातों ऋषि अम्बर पर छाए
दूर कहीं पर बेला गमका।

Shubh-Ratri

0
Shubh-Ratri

पंछी घोसलों में लौट आये है,
पशु अपने आशियानों में लौट आये है।
जन-जीव सारे थक गये है,
सब अपने घरों

Sapno Mein Kho Jaao Bachcho

1
Sapno Mein Kho Jaao Bachcho

पास हमारे आओ बच्चो।
अपनी बात सुनाओ बच्चो।

शोर शराबा हल्का गुल्ला,
दिन भर खूब मचाओ बच्चो।

गान

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.