मेरी दादी

0
19 -Apr-2017 Suresh Chandra Sarwahara Grandparents Poems 1 Comments  715 Views
मेरी दादी

मेरी दादी
_______________
दादी से था रहा महकता
मेरे बचपन का संसार,
मम्मी पापा से भी ज्याद

सुंदर नानी

0
14 -Apr-2017 Anju Goyal Grandparents Poems 0 Comments  586 Views
सुंदर  नानी

 नानी  मेरी  सुंदर  नानी 
 जग में सबसे न्यारी  नानी
 मुझे  सुना दो एक  कहानी 
 तुम  हो  जग में  सबस

दादी माँ की कहानी

0
17 -Nov-2016 poet harsh Grandparents Poems 0 Comments  1,762 Views
दादी माँ की कहानी

ये मै अपनी दादी माँ का जीवनी जैसा कि उन्होंने बताया, ये वैसा लिखने का प्रयास किया है।
उनके जगह अप

Dadi

0
16 -Jul-2016 प्रदीप Grandparents Poems 2 Comments  4,679 Views
Dadi

न खिडकी और दरवाजा न रोशनदान कहते है।
घर के इन बडे बूढो को घर की शान कहते है।
न समझे इनकी मजबूर

Dadi Boli

0
21 -Jun-2016 Prabhudayal Shrivastava Grandparents Poems 0 Comments  3,664 Views
Dadi Boli

जितनी ज्यादा बूढ़ी दादी,
दादा उससे ज्यादा।
दादी कहती 'मैं' शहजादी,
और दादा शहजादा।

दादी का यह ग

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017