The Flame of Truth

0
14 -May-2016 Kulvinder Nagha Guru Mahima Poem 0 Comments  229 Views
The Flame of Truth

The flame of truth burns brightly within.
Remaining constant it will never grow dim.
Love radiates from my Beloved's eyes.
Piercing through all the hidden lies.
His Gentle touch heals the troubled Souls.
Truth is alive when Love's story unfolds

Guru ki Mahima

1
14 -Dec-2015 PAWAN KOHLI Guru Mahima Poem 0 Comments  1,892 Views
Guru ki Mahima

जब इंसान मुसीबतो से हार कर भटक जाता है तब उसे सिर्फ प्रभु की याद आती है मन ही मन कहता है प्रभु मेर

सतगुरु जी हृदय विशाल बना दो

0
10 -Dec-2015 PAWAN KOHLI Guru Mahima Poem 0 Comments  988 Views
सतगुरु जी हृदय विशाल बना दो

सतगुरु जी हृदय है विशाल आपका, हम पर भी अपनी कृपा कर दो ,
सब सबका भी बने हृदय विशाल ऐसा कोई करिश्मा

SHUKARIYA

0
28 -Nov-2015 PAWAN KOHLI Guru Mahima Poem 0 Comments  699 Views
SHUKARIYA

एक बार नहीं दो बार नहीं हर बार बाबा जी आपजी का शुक्रिया ,
बाबा जी आपजी की सिखलाइयो के लिए हर बार शु

गुरु- मुखा तू सत्संग वीच आया कर

0
25 -Nov-2015 PAWAN KOHLI Guru Mahima Poem 0 Comments  612 Views
गुरु- मुखा तू सत्संग वीच आया कर

जैसे ही मेरी गुरु-महाराज जी को नमस्कारी करने की बारी आई ,
सतगुरु बाबा जी ने एक पल मुझको ओर मैंने ब

Is writing is your passion?

Then join us to spread your creativity to world. Registration is absolutely free.