प्यारी सी जुगनू

0
20 -Oct-2016 Mamta Rani Insect Poems 0 Comments  209 Views
प्यारी सी जुगनू

जुग-जुग जुगनू,
प्यारी सी जुगनू।
रात को आती,
दिन को जाती।
तारों सी चमचमाती जुगनू
जुगनू के आने से,

जुगनूँ

0
17 -Sep-2016 Suresh Chandra Sarwahara Insect Poems 0 Comments  132 Views
जुगनूँ

जुगनूँ (बाल कविता)
________________________
चमक रहे हैं जुगनूँ टिमटिम
बागों में होते ही शाम,
जैसे नन्ह

Keet Patange

0
15 -Aug-2016 Anupama Gupta Kesharwani Insect Poems 0 Comments  243 Views
Keet Patange

अजब-गज़ब सी इनकी दुनिया

कितने सुंदर कीट-पतंगे

अपनी दुनिया में खुश रहते

अपनी दुनिया में ये चंग

Mockdrill

0
12 -Feb-2016 Dr. Pradeep Shukla Insect Poems 0 Comments  307 Views
Mockdrill

चींटी को था चढ़ा बुखार
पारा पहुँचा सौ के पार

पति को उसने फ़ोन लगाया
चींटा बहुत जोर घबराया

पहुँच

Jag Mein Isane Naam Kamaya

0
13 -Nov-2014 Dr. Parshuram Shukla Insect Poems 0 Comments  1,110 Views
Jag Mein Isane Naam Kamaya

चींटी की छोटी सी काया।
इतनी छोटी बने न साया।

इसने मेहनत करके अपना,
दुनिया भर में राज जमाया।

सा

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017