Socho kabhi ek lamha aisa ho

0
Socho kabhi ek lamha aisa ho

सूनी राह हो,
हाथ तुम्हारा हो,
सन्नाटे की खूबसूरती में,
गूंजता प्यार हमारा हो,
सोचो कभी एक लम्हा

Dua Mangoonga Tumhare Liye Rab Se

0
21 -Jan-2017 prem kumar gautam Love Poem 0 Comments  86 Views
Dua Mangoonga Tumhare Liye Rab Se

मैं जागूँगा अब से रातों में तुम सो जाना प्रिये!
दुआ मागूँगा तुम्हारे लिए रब से, तुम मुस्कराना प्

Tere Aane ki Aahat

0
Tere Aane ki Aahat

आज क्यो पदचाप कोई
दे रहा मुझको सुनाई
आज क्यों हर चीज़ बदली सी
दे रही मुझको दिखाई
आज क्यों हर बात

Dil-e-jaan se pyar, Mujhse karte ho tum

0
20 -Jan-2017 prem kumar gautam Love Poem 0 Comments  56 Views
Dil-e-jaan se pyar, Mujhse karte ho tum

जुवां की भाषा निरर्थक रही
,दिल की जुवां को समझते हो तुम।
वीरानियों में घिरुं मैं जब भी ,
प्रेम क

Main Savera Jagakar Deta hoon

0
Main Savera Jagakar Deta hoon

मैं सबेरा जागकर कर देता हूँ,
तुम भी अँधियारा मिटाकर देखो ना।

आँखों में सपने हसीन मैं सजाता हु,

Is writing is your passion?

Then join us to spread your creativity to world. Registration is absolutely free.