Manjil Tu Thi

0
11 -Jan-2017 Ajit Singh Negi Sad Poems 0 Comments  216 Views
Ajit Singh Negi

मंजिल तू थी
रास्ता तू था
आँखे तू थी
ख्वाब तू था
मेरे हर सवाल का जवाब तू था
न जाने कब ये जिंदगी के हालात बदल गए
कुछ सवाल बदल गए कुछ जवाब बदल गए
सोचते रहे हम तन्हा की
या तो हम बदल गए या तुम्हारे जज्बात बदल गए



Please Login to rate it.




How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

Is writing is your passion?

Then join us to spread your creativity to world. Registration is absolutely free.