भाजपा संस्कारम

0
01 -Aug-2017 Omprakash Rai Politics Poem 0 Comments  249 Views
भाजपा संस्कारम

जोड़तोड़ सब छोड़, रखो EVM साथ।
जाटव, अहीर, कुर्मी, रहें आपुनो हाथ।
रहें आपुनो हाथ, खिले कमल चहुँओर।
वो

ग़ज़ल (दुनियाँ में जिधर देखो हज़ारों रास्ते दीखते )

0
16 -May-2017 Madan Saxena Politics Poem 0 Comments  240 Views
ग़ज़ल (दुनियाँ में जिधर देखो हज़ारों रास्ते दीखते )




मोदी सरकार से सवाल

1
13 -May-2017 युवा हिन्दी कवि Politics Poem 0 Comments  314 Views
मोदी सरकार से सवाल

हमारे देश में आए दिन आतंकी हमले होते रहते हैं । अभी हाल ही में 24 अप्रैल को छत्तीसगढ़ के सुकमा में

जाग रहा देखो एक योगी |

0
09 -Apr-2017 DINESH CHANDRA SHARMA Politics Poem 0 Comments  466 Views
जाग रहा देखो एक योगी |

जाग रहा देखो एक योगी
---------------------
जाग रहा देखो एक योगी , सारी दुनिया सोती है |
बीती आधी रात है लेक

योगी जी एक आये हें |

0
06 -Apr-2017 DINESH CHANDRA SHARMA Politics Poem 0 Comments  262 Views
योगी जी एक आये हें |

योगी जी एक आये हें
००००००००००००००००
जर्जर हालत है यूं पी की ,चुस्त बनाने आये हें |
गोरख बाब

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017