Rastra Gaan Ka apmaan

0
Rastra Gaan Ka apmaan

राष्ट्र गान का अपमान

अब क्या नंगे तन बदनो में राष्ट्र - तिरंगा लहरायेगा
क्या बलात्कार को करन

Janta Hai Kangaal

0
Janta Hai Kangaal

बैंक हुई कंगाल सब, किसका है ये दोष।
उसको कहें दिवालिया, जिसका खाली कोष।।
--
प्रजातन्त्र में क्यो

Vikriti

0
Vikriti

विकृति
ये धरती निरंजन की, यंहा हर शख्स है काला
कहीं नोटों का घोटाला कहीं बोटों का घेटाला
सडक मे

Anischit Ankalan

0
Anischit Ankalan

अनिश्चित आंकलन

क्यों आतंकवाद के कारण मुद्रा में परिवर्तन
इस कालेधन के कारण ये कैसा धन चिन्

Modi To Abhishap Hai

0
24 -Nov-2016 Raghvendra Gupta Politics Poem 0 Comments  85 Views
Modi To Abhishap Hai

मोदी तो अभिशाप हैं
अब तो ऐसा लग रहा है
अब तो हर उम्मीद राहुल
तुम पे आके टिक गयी है
तुम महामानव हो

Is writing is your passion?

Then join us to spread your creativity to world. Registration is absolutely free.