Baat baat me teri yaad aatii h

0
17 -Feb-2017 Dhruvish Shah Sad Poems 0 Comments  88 Views
Baat baat me teri yaad aatii h

Baat baat me teri yaad aatii h,
Haseen palo ko yaad kr dil jalatii h,
Unn lamho ko khwahisho me phr se milatii hein
Baat baat me teri yaad aati h..

Yun aawari zindgi abb nhi sahi jaati h,
Har ek hasii abb toh piche dard le aati h,
Zindgi har

सफ़र

0
सफ़र

दिल से दिल तक उतर जाने का शुक्रिया
जाहिल को जीवन जीना सिखाने का शुक्रिया
बेरंग थी जिंदगी मेरी त

कलम उठाने में थोड़ा कतराने लगा हूँ मैं

0
कलम उठाने में थोड़ा कतराने लगा हूँ मैं

कलम उठाने में थोड़ा कतराने लगा हूँ
मैं लतीफा अपनी आँखों से बहाने लगा हूँ

बर्बाद करता हूँ जिंदगी

मैंने खुद को तुम्हारा होते देखा है

0
मैंने खुद को तुम्हारा होते देखा है

उनकी आँखों का इशारा होते देखा है
मैंने दर्द को लोगो का सहारा होते देखा है

यूँ तो जिंदगी में थी ह

Bekarari

0
26 -Jan-2017 Rahul Sharma Sad Poems 0 Comments  134 Views
Bekarari

बेकरारी का मारा हूं कुछ इस कदर
दिन गुज़रते हैं पर लम्हा दर लम्हा दर

नाउम्मीदी ने दिल में है घर

Is writing is your passion?

Then join us to spread your creativity to world. Registration is absolutely free.