सुना अभी अभी के आप मोहब्बत में तजुर्बा रखते हो....

0
24 -Jun-2017 KP Sad Poems 0 Comments  5 Views
सुना अभी अभी के आप मोहब्बत में तजुर्बा रखते हो....




मेरी आँखों से मुझको शिकायत है....!!

0
17 -May-2017 pravin tiwari Sad Poems 0 Comments  211 Views
मेरी आँखों से मुझको शिकायत है....!!

मेरी आँखों से मुझको ये शिकायत है
बेवजह क्यूँ इन को छलकने की आदत है

तब आँखें कहत

Na dekh aisi nigahon se

0
09 -May-2017 Mustajab Khan Sad Poems 0 Comments  69 Views
Na dekh aisi nigahon se

Na dekh aisi nigahon se
Dar lagta hai aisi fizaon se
Husn bhi hai qatilana tera
Jan bakhsh de apni wafaon se

Na krna kabhi tu bewafai
Nahi bardasht hogi yeh judaai
Tere baad mera kya hoga
Kya yehi hai teri iktafai

Kyu mujhse tu ruth gyi h

तुम हो कोई अजनबी

0
05 -May-2017 Anju Goyal Sad Poems 0 Comments  112 Views
तुम  हो कोई अजनबी

 ना  जाने क्यों 
 लगता है बरसों बाद भी  
 तुम  हो कोई  अजनबी ....

जब  रूठ कर 
तुम्हारा  मुँह  
हम  से

Meri bhawana ko samjho

0
01 -May-2017 Mustajab Khan Sad Poems 0 Comments  141 Views
Meri bhawana ko samjho

भावना में अपने बह गया हूँ
अपनों से ही सताया गया हूँ
कोई थाम ले आकर हाथ मेरा
ज़िनदगी की राह म

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017