तुम्हारे बारे में कितना कुछ जानने की इच्छा है

0
11 -Aug-2017 Deepak Verma Love Poem 0 Comments  106 Views
तुम्हारे बारे में कितना कुछ  जानने की इच्छा है

प्रिय भावी हमसफर,

सबसे पहले तो बताओ अपना नाम,फ़िर मोहल्ला

कहाँ रहती हो,क्या करती हो,

रोज़ सुबह scooty से कहाँ जाती हो,

और अक्सर उस छोटी सी दुकान पर ही गोलगप्पे क्यों खाती हो,

तुम्हारे बारे में बहुत कुछ जानने की इच्छा है,

तुम्हें इस शहर की कौन सी सड़क पसंद है!

क्या वे जो अक्सर वीरान रहती हैं!
या वो जहाँ भीड़ भाड़ रहती है!

तुम्हें खाना बनाना पसंद है या तुम भी मेरी तरह हो,

कौन सा अख़बार पढ़ती हो,कौन सी पत्रिकाएँ!

खाली समय में क्या पसंद करती हो!
सोना, उदास रहना या ठाहाक्के लगाना!

तुम्हें आइस्क्रीम ज़्यादा पसंद है या लस्सी!

तुम किस साबुन से नहाती हो, किस शेम्पू से बाल धुलती हो!

अपने बाल अस्त व्यस्त बिखरे और अपनी लटों को गाल पे जान बूझ के रखती हो या तुमसे सम्भलते नही हैं!

तुम्हें गाना गाना ज़्यादा पसंद है या फ़िर नाचना!

इसके आलावा तुम्हारे बारे में कितना कुछ जानना चाहता हूँ,

मैं जानना चाहता हूँ कि दिसंबर की गुनगुनी धूप में तुम बाल सुखाते कैसी लगोगी,

जब तुम लाल साड़ी पहनोगी तो कैसी लगोगी,

जब तुम ये कविता पढ़ोगी तो तुम्हारे चेहरे की मुस्कान कैसी होगी! कैसे react करोगी तुम,

खैर अभी तुम मेरे लिए मात्र एक जिज्ञासा हो,
फ़िर जब तुम मिलोगी तो आश्चर्य में बदल जाओगी,
सातवीं,आठवीं या दसवीं नहीं, मेरे लिए मेरा पहला पावन आश्चर्य!

ना जाने क्यों मुझे लगता है
तुम्हारी,मेरी रुचियाँ ज़रूर मिलती होंगी,
तुम्हें भी आपसी तालुक में बहुत जल्द खरोच लगती होगी,

तुम्हें भी छोटी छोटी बातें बेवजह खुशी देती होंगी
और उससे भी ज़्यादा छोटी छोटी बातों पर तुम तुनक जाती होगी,

तुम भी अकेले में अपने आप से खूब बोलती होगी

लेकिन भीड़ में बाहर का रास्ता टटोलती होगी

पर पता नहीं क्यों मुझे लगता है तुम मेरे अरमानों से भी ज़्यादा अच्छी हो



Please Login to rate it.




How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017