फूल सी कली

0
08 -May-2017 Anju Goyal Woman Poems 0 Comments  43 Views
फूल  सी  कली

  फूल  सी  कली  थी वो
  कोमल  नन्ही  प्यारी
  धीरे धीरे खिलने  लगी
  खुशहाल चमन  की  प्यारी ।

   कभी

कहते है जमाना बदल गया

0
06 -May-2017 Anju Goyal Woman Poems 0 Comments  85 Views
कहते है जमाना बदल गया

  सुना  है  जमाना बदल  गया
  सुना  है जमाना बदल गया 
  पर  कहाँ जमाना बदला  है ...
  नारी  ने तो  
  खुद  

नारी की अभिलाषा

0
11 -Apr-2017 Anju Goyal Woman Poems 0 Comments  134 Views
नारी की अभिलाषा

 नारी  क्या   चाहे 
 बस प्यार  और  सम्मान 
 नहीं  बर्दाश्त  कर सकती अपमान 
 रखती है  घर  में  सबका  

"जग-जननी नारी तेरा जय हो"

0
29 -Mar-2017 Frista Woman Poems 0 Comments  19 Views
0 Votes




नारी शक्ति को प्रणाम

0
11 -Mar-2017 RAJ Woman Poems 0 Comments  125 Views
नारी शक्ति को प्रणाम

समझो इसे सौभाग्य , मेरा आपका है भाग्य ,
आज एक ऐसा शुभ काम कर लीजिए।
है अखंड निर्माता सारी सृष्टि

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017