Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

वो आज ही का दिन था.....!!!

0
11 -Jan-2020 pravin tiwari Birthday Poems 0 Comments  1,649 Views
वो आज ही का दिन था.....!!!

जन्मदिन की ढेर सारी शुभकामनाएं मेरे प्यारे दोस्त semnil Patel वो आज ही का दिन था, जब आप आये थे इस जहान में..... ढ़ेर सारी खुशियां आप, साथ लाये थे परिवार में...... किस्मत की लकीरों ने, आपको हमसे मिलाया...... हमारी खुशनसीबी की, आप जैसा

Wo Kaisi Hogi???

0
22 -Sep-2019 Writer Harsh Birthday Poems 0 Comments  980 Views
Wo Kaisi Hogi???

Wo Kaisi Hogi(Birthday Special) Kuch Sawal Jo Man Me Hain :- Jis ladki ke vichar inte pavitra hon Wo kaisi hogi??? Jis ladki ka man bacche ki trh nischal ho Wo kaisi hogi??? Jis ladki ki baten patthar ko bhi pighala den Wo kaisi hogi??? Jis ladki ki baten adhary ko bhi sukun dila den Wo kaisi hogi??? Jis ladki ki soch itni sacchi ho Wo kaisi hogi??? Jis ladki ki acchai burai ko bhi acchai bna de Wo kaisi hogi??? Jis ladki ki baten jid krne wale ko bhi rukwa de Wo kaisi hogi??? Jis ladki ki ek milan,milne wale ko bhi jila de Wo kaisi hogi??? Jis

उसे मोहब्बत कहूं या मेरी तक़दीर.....!!!

0
11 -Feb-2019 pravin tiwari Birthday Poems 0 Comments  1,989 Views
उसे मोहब्बत कहूं या मेरी तक़दीर.....!!!

उसे मोहब्बत कहूं या मेरी तक़दीर, उसे जिंदगी कहूं या मेरे हाथों की लकीर... हर खुशी मेरी उससे बावस्ता है, वो "प्रतिभा" है मेरी मैं हूं उसका "प्रविन"... ****** आज सुबह में कुछ अलग ही बात है, जैसे खुशियां ही खुशियां हर तरफ है... आज

" जन्मदिन ".....

0
13 -Jan-2019 Saroj Birthday Poems 0 Comments  1,639 Views

" जन्मदिन "..... यु तो बाते है बहुत सी अनकही , बच्चपन से लेकर आज तक है जो नहीं कभी कही, वो आपका प्यार मेरे लिए, वो आपकी चिंता मेरे लिए, घुमाना मुझे साइकिल के पीछे बिठा कर, कभी रुलाना कभी चिढ़ाना, कभी हसना कभी मानना, बच्चपन से

जन्मदिन / Janmdin

0
22 -Sep-2018 Naren Kaushik Birthday Poems 0 Comments  1,766 Views
जन्मदिन / Janmdin

आज का दिन भी बड़ा खास है दुनिया में मेरा पहला दिन आज है आज सोचता हूं कि जब मां की गोद में आंख पहली बार खोली होगी खुशी से आंखों में चमक आ गई होगी छोटे छोटे हाथों से ऊंगली मां की थामी होगी मेरे पहले कदम पे मां खुशी से झु

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017