Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

जन्मदिन / Janmdin

0
22 -Sep-2018 Naren Kaushik Birthday Poems 0 Comments  1,132 Views
जन्मदिन / Janmdin

आज का दिन भी बड़ा खास है दुनिया में मेरा पहला दिन आज है आज सोचता हूं कि जब मां की गोद में आंख पहली बार खोली होगी खुशी से आंखों में चमक आ गई होगी छोटे छोटे हाथों से ऊंगली मां की थामी होगी मेरे पहले कदम पे मां खुशी से झु

नूतन हिन्दुस्तान बनो

1
नूतन हिन्दुस्तान बनो

भाभा और अब्दुल कलाम से विज्ञानी बन जाओ तुम, न्यूटन, थॉमस और एडिसन से ज्ञानी बन जाओ तुम ! कर्मयोग स्वामी विवेक से शून्य समाधी ओशो से, सीखो साधना परमहंस से और ध्यानी बन जाओ तुम !! जैसा की उत्कर्ष नाम है सूरज सा दिनमान ब

मेरी मोहब्बत का जन्म दिन जो आज है.....!!

0
11 -Feb-2018 pravin tiwari Birthday Poems 0 Comments  3,421 Views
मेरी मोहब्बत का जन्म दिन जो आज है.....!!

*आज का दिन बड़ा ही खाश‌ है.....* *मेरी मोहब्बत का जन्म दिन जो आज है.....* *जिसके आने से रोशन हुई मेरी जिंदगी,* *मेरे लिए तो रब की वो अनमोल सौगात है.....* *क्या तारीफ करूं उसकी अपने अल्फाजों में यारों.....* *हर तारीफ से बढ़कर मेरी माहत

Janmdiwas ki bela par

0
17 -Sep-2017 Dr. Roopchandra Shastri Mayank Birthday Poems 0 Comments  1,736 Views
Janmdiwas ki bela par

बुधवार, 13 सितंबर 2017 कविता "ज्येष्ठ पुत्र नितिन का जन्मदिन" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') जन्मदिवस की बेला पर, आशीष तुम्हें मैं देता। जीवन के क्रीड़ांगन में, तुम बहकर रहो विजेता। संस्कार की नींव हमेशा, अपने बच्चों

आज ही वो दिन है...

1
30 -Jun-2017 Kaushal Raj Dv (Dymnd) Birthday Poems 0 Comments  5,431 Views
आज ही वो दिन है...

माँ के गर्भ में जो नौ माह बिताई थी, आज ही वो दिन है जब नन्ही सी परी, प्रकृति की गोद मे आयी थी... उसके चेहरे की तरफ देख कर जब सबने एक आस लगायी थी, खुद रोकर उसने दुनिया को हंसाई थी, वो नाज़ुक सी थी, थी वो कोमल सी, पर अपने माँ की

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017