Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

नूतन हिन्दुस्तान बनो

1
नूतन हिन्दुस्तान बनो

भाभा और अब्दुल कलाम से विज्ञानी बन जाओ तुम, न्यूटन, थॉमस और एडिसन से ज्ञानी बन जाओ तुम ! कर्मयोग स्वामी विवेक से शून्य समाधी ओशो से, सीखो साधना परमहंस से और ध्यानी बन जाओ तुम !! जैसा की उत्कर्ष नाम है सूरज सा दिनमान ब

मेरी मोहब्बत का जन्म दिन जो आज है.....!!

0
11 -Feb-2018 pravin tiwari Birthday Poems 0 Comments  3,044 Views
मेरी मोहब्बत का जन्म दिन जो आज है.....!!

*आज का दिन बड़ा ही खाश‌ है.....* *मेरी मोहब्बत का जन्म दिन जो आज है.....* *जिसके आने से रोशन हुई मेरी जिंदगी,* *मेरे लिए तो रब की वो अनमोल सौगात है.....* *क्या तारीफ करूं उसकी अपने अल्फाजों में यारों.....* *हर तारीफ से बढ़कर मेरी माहत

Janmdiwas ki bela par

0
17 -Sep-2017 Dr. Roopchandra Shastri Mayank Birthday Poems 0 Comments  1,464 Views
Janmdiwas ki bela par

बुधवार, 13 सितंबर 2017 कविता "ज्येष्ठ पुत्र नितिन का जन्मदिन" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') जन्मदिवस की बेला पर, आशीष तुम्हें मैं देता। जीवन के क्रीड़ांगन में, तुम बहकर रहो विजेता। संस्कार की नींव हमेशा, अपने बच्चों

आज ही वो दिन है...

1
30 -Jun-2017 Kaushal Raj Dv (Dymnd) Birthday Poems 0 Comments  5,081 Views
आज ही वो दिन है...

माँ के गर्भ में जो नौ माह बिताई थी, आज ही वो दिन है जब नन्ही सी परी, प्रकृति की गोद मे आयी थी... उसके चेहरे की तरफ देख कर जब सबने एक आस लगायी थी, खुद रोकर उसने दुनिया को हंसाई थी, वो नाज़ुक सी थी, थी वो कोमल सी, पर अपने माँ की

Shubhkamna

0
25 -Feb-2017 Maya Ramnath Mallah Birthday Poems 2 Comments  3,667 Views
Shubhkamna

Mulakat chaar din ki hai Phir bhi dil mai ye khayal sa hai Janam din ki badhai de du Aaya saal mai ek baar Jo hai Jaanti nahi kaisa hai tu Par paani sa saaf dil ho Aashman sa khula vichaar ho Dhup mai chhaiya sa ho Saath mai chalta parchhaiya sa ho Murjha ke khushbu lutata phool ho Gairo mai ho par apna sa ho Chhut jata sang Sab ka jis mod pe Ush mod pe sang tum ho Andhere mai ghyan ka ujala ho Bichhade Jo to kinara sa ho Bin mange Jo mil jata Vo sahara tum ho Suraj ki chamak sa Teri mushkan ho Har lakhsay ko paloge Aisa abhimaan sa ho Teri zin

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017