Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

AK 47 गोले

0
06 -Feb-2021 N.K.M.[ LYRICIST ] Break Up Poems 0 Comments  187 Views
AK 47 गोले

SONG :- AK 47 गोले LYRICIST :- N.K.M. [ 6377844869 ] LYRICS :- INTRO PART :- प्यार किया बेकार तूने, मूंछ का ताव देखा ना , देखा गुस्सा कहां तूने, मूर्ख कभी समझना ना, कितनी कदर की है तेरी हमने, उसका हिसाब तुम दे सकती ना , ******************** CHORUS PART :- दिल से संग तेरे थे हम बहुत भो

ये पूछने आया हूं

1
27 -Jan-2021 N.K.M.[ LYRICIST ] Break Up Poems 1 Comments  172 Views
ये पूछने आया हूं

ये पूछने आया हूं, क्या मैं तुझे डराया हूं, फिर क्यूं घर पर आई है, बात समझ में ना आई है, तुझे कौन सी एक्सेसरीज़ नहीं दिलाई है , मैंगो ऑरेंज जैसी फ्रूटी पिलाई है, फिर तेरे इश्क में यह कैसी ढिलाई है, तू तोड़ रही मेरी मोहब्

इश्क जिसने भी किया वो दीवाना बन गया

0
13 -Jan-2021 Vishal मिश्रा Break Up Poems 0 Comments  231 Views
इश्क जिसने भी किया वो दीवाना बन गया

इश्क जिसने भी किया वो दीवाना बन गया कूचा ए इशक का बदनाम फसाना बन गया शम्मा से दिल लगाकर परवाने जब खाक हुए तब मोहब्बत का एक उसूल जान गवाना बन गया इस दिल में जो सुराख करके तू चली गई कहीं उसी सुराख से रोज किसी का आना जा

कोई हमदम कोई हम ज़ुबान ना मिला

0
07 -Jan-2021 Vishal मिश्रा Break Up Poems 0 Comments  322 Views
कोई हमदम कोई हम ज़ुबान ना मिला

कोई हमदम कोई हम ज़ुबान ना मिला मुझको मेरा कहीं नाम ओ निशान ना मिला अपनी बेबसी हम कहां जाके जाहिर करते तेरे शहर में तो मुझको कहीं दीवान ना मिला जो चांद था चंदनी भी तो उसी की अमानत थी फकत एक अब्र को उसका आसमान ना मिला

Mohhobat ek kwab..

0
03 -Dec-2020 shubham malviya Break Up Poems 0 Comments  224 Views
Mohhobat ek kwab..

Zindagi ke kore panno par kuch khwab humne likh daale Jo huve nahi haqeeqat wo sare jala daale Magar ek katra unke naam ka aaj bhi jal raha hai zehen me.. Yaad me unki naa jane hamne kitne jaam pee daale Ye nasha mohobbat naam ka hai yaa us jaam ka hai.. Esne Kitne hi aashiqo ke dil tod daale... Sm malviya R. shalmi

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017