Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

DOSTI Wale Din-2

0
11 -May-2019 Bimal Shahi Friendship Poems 0 Comments  185 Views
Bimal Shahi

Hum Apne dil ke the badshah dosto
Fir se ek sath rahe, yahi hai chah dosto

Bade shan se hum sare niyam tode the
Picture dekhne ke liye college chhode the
Tab tha hume kahan kisi ka parwah dosto
Hum Apne dil ke the badshah dosto

Yaad hai na kaise Vishnu me maar kiye the
Sandhya me kaise uska sar fad diye the
Hum sab hain uss kshan ke gawah dosto
Hum Apne dil ke the badshah dosto

Jane-jigar yaro ke yaar hote the
Jaan dene ke liye hardam taiyar hote the
Mante the ek duje ka salah dosto
Hum Apne dil ke the badshah dosto

Achchhai se, burayi se kuchh nata nahi tha
Dosti ke siva aur hume kuchh aata nahi tha
Dosto ke sang chal pade,wahi tha sahi rah dosto
Hum Apne dil ke the badshah dosto

Hum Apne dil ke the badshah dosto
Fir se ek sath rahe, yahi hai chah dosto



दोस्ती वाले दिन -2

हम अपने दिल के थे बादशाह दोस्तो
फिर से एक साथ रहें, यही है चाह दोस्तो

बड़े शान से हम सारे नियम तोड़े थे
पिक्चर देखने के लिए कॉलेज छोड़े थे.
हम अपने दिल के थे बादशाह दोस्तो
फिर से एक साथ रहे, यही है चाह दोस्तो

याद है न कैसे विष्णु से मार किए थे
संध्या में कैसे उसका सर फाड़ दिए थे
हम सब हैं उस क्षण के गवाह दोस्तो
हम अपने दिल के थे बादशाह दोस्तो

जाने-जिगर यारों के यार होते थे
जान देने के लिए हरदम तैयार होते थे
मानते थे एक दूजे का सलाह दोस्तो
हम अपने दिल के थे बादशाह दोस्तो

अच्छाई से, बुराई से कुछ नाता नही था
दोस्ती के सिवा और हमें कुछ आता नही था
दोस्तो के संग चल पड़े, वही था सही राह दोस्तो
हम अपने दिल के थे बादशाह दोस्तो

हम अपने दिल के थे बादशाह दोस्तो
फिर से एक साथ रहे, यही है चाह दोस्तो


 Please Login to rate it.


You may also likes


How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017