Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

ये जो तुम बोलते हो बार बार

0
14 -Apr-2022 Megha Raghuwanshi Education Poem 0 Comments  21 Views
ये जो तुम बोलते हो बार बार

ये जो तुम बोलते हो बार बार कि दिल पर लगती हैं तुम्हारी हर बात ये करामात सिर्फ इसलिए हैं खास क्योंकि मैं दिल से लिखती हूं हर बात जो चाहे वो लिख दूं, ऐसा हुनर नही है मेरे पास मैं सोचकर नही,भावनाओ में बहकर लिखती हूं मन

ये जो तुम दूसरो के साथ रहकर

0
11 -Apr-2022 Megha Raghuwanshi Education Poem 0 Comments  28 Views
ये जो तुम दूसरो के साथ रहकर

ये जो तुम दूसरो के साथ रहकर कर रहे हो कोशिशें,कि दूर हो जाए मेरा अकेलापन क्या मेरी बात मानोगे, अगर मान रहे हो बात मेरी तो क्या दूसरो से खुद के अकेलेपन को भरने की कोशिश बंद कर पाओगे क्या मेरी बात मान पाओगे तुम, कि कोई

क्यों जरूरी हो जाता हैं

0
16 -Mar-2022 Megha Raghuwanshi Education Poem 0 Comments  137 Views
क्यों जरूरी हो जाता हैं

क्यों जरूरी हो जाता है लोगो के साथ रहना जब लगे तुम्हे, तुम्हारे जैसे दूसरे हैं या नहीं तब जरूरी हो जाता है तुम्हारा तुम्हारे जैसे लोगो के साथ रहना। जब लगे तुम्हे, बहुत अकेले हो तुम भावनात्मक किसी से जुड़ने के लिए

अपने सपने

0
21 -Sep-2021 Komal Swami Education Poem 0 Comments  667 Views
अपने सपने

जो जीना सिखाए, वो होते है सपने जो आखों से नींद उड़ा दे, वो होते है सपने जो हिम्मत को हौसला दे, वो होते है सपने जो अपने पास बुला कर खुद छुप जाए, वो होते है सपने जो जिंदगी जीने की वजह दे, वो होते है सपने जो खुद से प्यार करन

कामयाबी की कुंजी

0
18 -Sep-2021 Ravi Education Poem 0 Comments  301 Views
कामयाबी की कुंजी

दूसरों की खूब सुनिए, उस पर मनन भी कीजिए खूब । बात जो हो अपने काम की, उसे याद भी रखिए खूब । जीवन की जंग में, इसका कीजिए खूब सदुपयोग । जीत आपकी ही होगी, कहने में नहीं कोई संकोच । महत्वाकांक्षा अपने जीवन की, रखिए खूब बढ़ा

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017