Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

Parivar(परिवार)

0
02 -Jun-2022 Nainsi Jain Family Poems 0 Comments  179 Views
Parivar(परिवार)

एक शहर होता है यारों, जिसमें बस्तियों का गुज़ारा होता है। हर एक बस्ती की अपनी छोटी सी दुनिया होती है, जिसमें परिवार रूपी सितारा होता है। एक दूसरे के दिल में बसती है जान जिनकी, ऐसे लोगों से रिश्तों का फुलवारा होता ह

Jab tod de Dil Apne hi

0
29 -Mar-2022 Ispriha Sharma Family Poems 0 Comments  57 Views
Jab tod de Dil Apne hi

Jise sawarne me laga diya sabkuch, Us ghar me sada mehmaan hi rhi, Har ek ko samjhna chaha mene, Pahchan meri gumnam hi rhi, Suljha na payi dhage rishton ke, Me q sada nadaan hi rhi, Seekh na payi kayde iske duniya se anjaan hi rhi, Pyar aur izzat bati sab ko, Mere hisse apman hi sahi, Dil toota h aankhe nam hain meri, Apno par h bas ilzaam yhi, Ho sake to tham lo hath mera, Is dariya me bah na jaun kahi, Fr na dena aawaz mughe, Jane wale bhala lote hain kbhi.

मेरे हर लफ्ज़, हर जज़्बात है पापा

0
20 -Feb-2022 Megha Raghuwanshi Family Poems 0 Comments  122 Views
मेरे हर लफ्ज़, हर जज़्बात है पापा

मेरे हर लफ्ज़, हर जज़्बात है पापा जो दिल में सदा बसे वो खास हैं मेरे पापा उनकी हर एक बात बड़े ध्यान से सुनती हूं तजुर्बे की हर बात का हिसाब हैं मेरे पापा जब राह गलत चुनूं, तब समझाए मेरे पापा दुनिया की नजर में बड़ी, मु

Rishto ki uljhan

0
14 -Feb-2022 Neha Gupta Family Poems 0 Comments  87 Views
Rishto ki uljhan

Ek rishta bnate h dusre ko tuta hua pate h, Koshisho s apni hm har bar har jate h... Har bar hm thokar khate h, phir b khud ko na samjha pate h... Riste h dikhawe ke kyo ye bhul jate h, Smjh kr sabko apna hm kyun gale lgate h... Ek rishta bnate h dusre ko tuta hua pate h, Koshisho s apni hm har bar har jate h...

उलझी ज़िन्दगी

0
04 -Dec-2021 Ravi Family Poems 0 Comments  320 Views
उलझी ज़िन्दगी

ज़माने से चाहा था मैं खूब आराम करुं, बेफिक्र हो जैसे चाहूं समय बर्बाद करुं । पर हुआ कि होश सम्हालते स्कूल पहूंचा, हुक्म हुआ कि घर आते घर का पाठ करुं ।। जवानी में चाहा खूब मौज-मस्ती करूं, रंग-रूप संवारने को खूब फैशन क

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017