Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

Ek pankti aapke naam....

2
27 -Aug-2015 अभिषेक आर्य..! Farewell Poems 1 Comments  7,724 Views
अभिषेक आर्य..!

Na krishn ki , na raam ki
ek pankti aapke naam ki
socha, ku6 likhu aapke bare me
par shabd kam pad gye
aapke jaane ki khabar huee
to aankhe namm pad gye

chahe baat aagaj ki, ya ho anjaam ki
aap jariya ho hamare pahchan ki
ek pankti aapke naam ki
jindgi ki kachhi jalebi ko
chasni me dubaya aapne
har mushkil kshn me
mushkurana sikhaya aapne
mai jab- jab gira, sambhala aur haath badhaya aapne

aap murat ho bhagban ki
ek pankti aapke naam ki
ek mamuli hawa ke jhonke ko, samir aapne banaya hai
aapke sanidhya me, sanskar hamne paya hai
aapke taap ki garmi se jeevan jyot jalayee hai
ye mere guru, aap chankya chandragupt aur nachiketa
ki parchhanyee hai

to kyon na karu mai prashansha aapke kaam ki
ek pankti aapke naam ki
auron ke liye bhale hin maa-baap bhagvaan hain
par mere liye aapke hin kadmo me charo dhaam
hain.

mai abhi bhi kahta hun ruk jaiye!
aap jarurat hain, hamaree aur hamare sansthan ki
Ek pankti aapke naam ki............



एक पंक्ति आपके नाम की...

न कृष्ण की न राम की
एक पंक्ति आपके नाम की
सोचा कुछ लिखू आपके बारे में
पर शब्द कम पड़ गए
आपके जाने की खबर हुई
तो आँखे नम पड़ गए

चाहे बात आगाज की हो या अंजाम की
आप जरिया हो हमारे पहचान की
एक पंक्ति आपके नाम की
जिंदगी की कच्ची जलेबी को
चासनी में डुबाया आपने
हर मुश्किल क्षण में
मुस्कराना सिखाया अपने
मैं जब जब गिरा,
संभाला और हाथ बढ़ाया आपने।

आप मूरत हो भगवान की
एक पंक्ति आपके नाम की
एक मामूली झोंके को
समीर बनाया आपने

आपके सानिध्य में,संस्कार हमने पाया है
आपके ताप की गर्मी से जीवनज्योत जलाई है
ऐ मेरे गुरु,आप चाणक्य,चन्द्रगुप्त और नचिकेता के परछाईं हैं।
तो क्यों न करूँ प्रशंसा आपके काम की
एक पंक्ति आपके नाम की
औरों के लिए भले ही माँ बाप भगवन हैं
पर मेरे लिए आपके क़दमों में ही चारों धाम है

मैं अभी भी कहता हूँ रुक जाइए
आप जरूरत हैं,हमारी और हमारे संसथान की
एक पंक्ति आपके नाम की............


Dedicated to
all gurus

Dedication Summary
i love my teacher, and all my gurus in any field..

 Please Login to rate it.


You may also likes


How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

1 More responses

  • poemocean logo
    Amit sinha (Guest)
    Commented on 31-December-2015

    very nice poem sir........

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017