Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

मेरे लिए हमेशा ही भगवान हैं मेरे पापा

0
09 -Apr-2022 Ankit Mishra Fathers Day Poems 0 Comments  35 Views
मेरे लिए हमेशा ही भगवान हैं मेरे पापा

बचपन में जिन्होंने अपने कंधे पे मुझे बैठाया वो इंसान है मेरे पापा । मुश्किलों में हाथ पकड़कर पे जिन्होंने उठाया वो बलवान है मेरे पापा । कभी धरती तो कभी आसमान है मेरे पापा मेरे लिए हमेशा ही भगवान है मेरे पापा सही र

Father

0
27 -Mar-2022 Samiya Faiz Fathers Day Poems 0 Comments  28 Views
Father

मेरी कविता: मेरे पापा अपनी परेशानी को टाल कर, बस मेरी उल्झनों में लगे रहते हैं सारे रिश्तों से बड़कर है जिनका दर्जा हम उन्हें पापा कहते हैं मेरी एक ज़िद पूरी करने के लिए रातों को उठ जाते हैं मैं हमेशा हसंती रहूं मे

पुरूष और जिम्मेदारी

0
22 -Nov-2021 शिवाजी Fathers Day Poems 0 Comments  223 Views
पुरूष और जिम्मेदारी

क्या तुम्हें भी लगता है आसान है पुरुष होना गम अपने अंदर दफन कर मुस्कुराकर रोना जरूरत पूरी करने के लिए ख्वाहिशों को खोना कमाने को गांव से दूर जाकर छुप छुप कर रोना सपने पूरा करने के लिए अपनों से ही दूर होना सुख और दु

“पापा की धुँधली यादे”

0
21 -Jun-2021 Alok Pandey Fathers Day Poems 0 Comments  246 Views
“पापा की धुँधली यादे”

सहेज कर रखा हूँ दिल में पापा की धुँधली यादों को, विन्रम एवं आदर्शवादी व्यक्तित्व को। बच्चों और परिवार के प्रति था उनका अद्भुत समर्पण, मेरे पापा थे कर्तव्यपरायण। हमेशा शक्ति और स्तंभ रूप में कार्य किया हमारे लिए

बाप :- भगवान का विशेष रूप

0
26 -Feb-2021 N.K.M.[ LYRICIST ] Fathers Day Poems 0 Comments  1 Views
बाप :- भगवान का विशेष रूप

SONG :- बाप:-भगवान का विशेष रुप LYRICIST :- N.K.M. [ +916377844869 ] LYRICS :- ::::::----- INTRO PART ::::::------- आंधियों से तू टकराया बापू जिम्मेदारी लिए, पत्थर खुद पे गिराया तू ढ़ेर लेकर मेरे लिए, ****************************** ::::::----- CHORUS PART ::::::------- बाप मेरा है भगवान का विशेष रुप लिए, अपमान स

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017