Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

स्वाधीन दिवस / रक्षा बंधन

0
14 -Aug-2019 nil Festival Poems 0 Comments  59 Views
स्वाधीन दिवस / रक्षा बंधन

स्वाधीन दिवस / रक्षा बंधन देखो तो भाई -बहिना/सबका ही यह है गहना स्वाधीन दिवस - रक्षा बंधन हराभरा है बिछा गलीचा /हँसते गाते बाग़ -बगीचा स्वर्ग परी ने बांची चिठिया/राखी ने उल्लास उलीचा रिश्तों का सुख -चंदन... राखी याद दि

त्यौहारों का कोई मोल नहीं

0
09 -Aug-2019 PAWAN Festival Poems 0 Comments  82 Views
त्यौहारों का कोई मोल नहीं

अब त्यौहारों का कोई मोल नहीं ,,, समय पर आते है और समय पर ही चले जाते है पता ही नहीं चलता कब कौन सा त्यौहार आया , पता ही नहीं चलता कब कौन सा त्यौहार चला गया , किसने उसको मनाया और किसने उसको गवाया अब त्यौहारों का कोई मोल न

क्रसमस का त्यौहार

0
23 -Dec-2018 nil Festival Poems 0 Comments  155 Views
क्रसमस का त्यौहार

क्रसमस का त्यौहार आओ क्रसमस पर्व मनाएं /राम रहीम यीशु गुण गाएं जब जब हम त्यौहार मनाते/हसी ख़ुशी उपहार लुटाते जब जैसा त्य्हर मनाया /तब तैसा तब साज सजाया सब जग को यह बात बताएं ... देखो हम सब भारतबासी /हम गिरजाघर काबा का

નવલી નવરાત્રી નો આ પર્વ છે આપણો......!!!

0
13 -Oct-2018 pravin tiwari Festival Poems 0 Comments  215 Views
નવલી નવરાત્રી નો આ પર્વ છે આપણો......!!!

નવલી નવરાત્રિ નો‌ આ પર્વ છે આપણો, ખૂબ આનંદ ભેર એને તમે માણજો...! નવ દિવસ છે આ માં ના નવ રૂપ ના, નવ દુર્ગા ની પુજા ભાવ ભક્તિ થી કરજો...! પહેરીને ચણીયાચોળી અને કેડિયું, આપણી સંસ્કૃતિ‌ નું ખુબ ગૌરવ વધારજો...! ઢોલ ડિજે ના તાલે

Shivratri

0
24 -Aug-2018 Rashmi Gupta Festival Poems 0 Comments  233 Views
Shivratri

आज फिर शिवरात्री का पर्व आया है, मिलकर सब ने हर्षो उल्लास से मनाया है । शिव और पार्वती कि अजब कहानी है, मिलकर खोना, खोकर मिलना इनकी रवानी है, पर जब भी गौरा पर संकट आया है, भोले का साया सदा साथ पाया है। घुघंराले बाल और

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017