मुझे बना दो कृष्ण-कन्हैया

0
13 -Aug-2017 Madhu Festival Poems 0 Comments  105 Views
मुझे बना दो कृष्ण-कन्हैया

मुझे बना दो कृष्ण -कन्हैया ममता भारद्वाज "मधु "द्वारा रचित सुनो प्रार्थना मेरी मैया, मुझे बना दो कृष्ण कन्हैया | तुम बन यशोदा मैया, मुझे बना दो कृष्ण कन्हैया | दूध -मलाई माखन खाऊँ , नदिया -तीरे खेलें जाऊँ | बंधू -सखा सं

TeeJ Aur Jhule

0
28 -Jul-2017 sumit.m. Festival Poems 0 Comments  167 Views
TeeJ Aur Jhule

Dekhosawan me aaya teej ka thyohar, Aao sakhiyo hum sab ho jaye tayar! Milkar hum sab nache aur gaye, Umang aur aanand se teej manaye! Jhule jhulkar aao masti me kho jaye, Mllkar sab ghewar khaye! Jab ye thyohar hai mauj masti ka, Toh sakhiyo sang kyon na dhoom machaye! Mehandi lagaye aur lagwaye, Aur naye Vastra pehan kar khushi se fhule na samaye! Jaise baarish me mor nachta, Ushi tarah hum sab bhi teej ke awsar par nache gaye aur ye sawan ka thyohar manaye! sheetal.m.

वैशाखी का त्यौहार

0
16 -Mar-2017 Praveen Rawat Festival Poems 0 Comments  256 Views
वैशाखी का त्यौहार
0 Votes

दूर लहलहाते खेतों में, फसल भी देखो कट आयी है । नए साल का वो सवेरा, एक भीनी सी खुशबू लायी है ।। खुशियों से भरा घर आँगन, त्योहारी मादकता फिज़ाओं में छाई है । कोई नए वस्त्रों में घूम रहा, तो कहीँ पकवानों की चमक खींच लाई है

वैसाखी

1
06 -Mar-2017 Jyoti Festival Poems 0 Comments  292 Views
वैसाखी
3 Votes

वैसाखी तुमने समेटे है रंग अनेक धरती ने किया है सोलह श्रृंगार खेतों में सजी है सुनहरी फलियां फूल ही फूल बिखरे हैं धरा पर मैना और बुलबुल का कलरव कोयल की कूक पपीहरे का प्रिय को बुलाना गूँजता है चहुँ ओर वैसाखी तुमने

Humare Tyohar

1
22 -Jan-2017 Anju Goyal Festival Poems 1 Comments  496 Views
Humare Tyohar

हमारा भारत देश है त्यौहारों का देश हमारे त्यौहार है संस्कृति की पहचान देश की बढ़ाते हैं मान और शान भिन्न भिन्न धर्मो के है अलग अलग दीपावली ईद लोहड़ी क्रिसमस ये सब हमारे विशेष त्यौहार पर निहित है सभी में एक ही भाव

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017