किस्से अतीत के...

0
30 -Aug-2017 Aakash Parmar Friendship Poems 0 Comments  284 Views
किस्से अतीत के...

कुछ पल लाया हूं बचपन से अपने, यादों की महफिल सजाने को, बैठ यारों संग किसी छोर पर, बेफ्रिक हो उनें खो जाने को, कहां से शुरू करू बातें पुरानी, सोचू, समझू उन्हें और बना दू कोई कहानी, शुरूआत करता हूं इक किस्से से अपने, योज

जान से प्यारे दोस्त हमारे....

0
05 -Aug-2017 Piyush Raj Friendship Poems 0 Comments  423 Views
जान से प्यारे दोस्त हमारे....

जान से प्यारे दोस्त हमारे.... बीत गए जो पल वो फिर वापस नही आएंगे वो स्कूल की मस्तियाँ फिर हम कैसे दोहराएंगे वो हंसी मजाक ,नोक झोक, वो हमारी शरारतें समय गुजरने के साथ साथ हमे और याद आएंगे कैसे कटेंगे दिन जब हम दोस्त बि

मेरी मुलकात

0
17 -Jul-2017 Abhishek Arya Friendship Poems 0 Comments  507 Views
मेरी मुलकात

मेरी मुलकात सुन जो तुमसे मेरी मुलकात नहीं होती , मेरे जिंदगी में उजालो की शुरुआत नहीं होती , जो तेरी पलकों से मेरी पलकों का मिलान न होता, तो मेरी नयनो से मोती की बरसात नहीं होती है , गर तेरी मुहब्बत का मुझ पर छाया न हो

दोस्ती हमारी महकती रहे

0
05 -May-2017 Parth Friendship Poems 0 Comments  1,224 Views
दोस्ती हमारी महकती रहे

दोस्ती हमारी महकती रहे, लहकती रहे दहकती रहे चंदा की तरह चमकती रहे । दोस्ती हमारी फलती रहे, चलती रहे पलती रहे सूरज की तरह निकलती रहे । दोस्ती हमारी छलकती रहे, थिरकती रहे लरजती रहे बादल की तरह गरजती रहे ।

Dost tu hi sona chandi re

0
15 -Apr-2017 Friendship Poems 0 Comments  1,022 Views
Dost tu hi sona chandi re

कभी जो मै रुठु तो तू मनाए कभी जो तू रूठे तो मैं मनाऊं चलती रहे इसी तरह जिन्दगानी रे दोस्त तू ही सोना चांदी रे..... खेल-खेल में कभी तू जीते तो कभी मै हारू कभी तू प्यार से मुझे मारे तो कभी मै तुझे मारु कभी तू मेरे साथ करे श

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017