Latest poems on teachers day, sikshak diwas kavita

हो कर मूसक पर सवार.......!!!

0
13 -Sep-2018 pravin tiwari Ganesh Chaturthi Poems 0 Comments  150 Views
हो कर मूसक पर सवार.......!!!

हो कर मुशक पर सवार, बप्पा चले भक्तों के द्वार......! ढोल ताशे की धून पर, नाचे सारा हिंदुस्तान...........! उड़ा कर अबीर गुलाल, करी फूलों की बरसात.........! हर नर नारी यही कहे, बप्पा पधारो हमारे द्वार........! भोग लगाकर मोदक का, करनी है सेवा

Gannu ganpati vighnharta

0
13 -Sep-2018 Pragya Sankhala Ganesh Chaturthi Poems 0 Comments  143 Views
Gannu ganpati vighnharta

gannu ganpati vighnharta ladoo modak unko arpit shish jukhakar aaj ham kare kuch pusahp samarpit manokamnao ka sagar sansar bhar ki puri kar do aaj iss awasar par sharan apni le lo dukhharta sukhkarta prabhu vighan sare dur kar do samradhi se iss jag me khushiyo se jholi bhar do kamna rahe na koi itna ashirvad do sankat sare iss jag ke gajanan har lo

गणपति बप्पा / Ganpati Bappa

0
13 -Sep-2018 Mamta Rani Ganesh Chaturthi Poems 0 Comments  500 Views
गणपति बप्पा / Ganpati Bappa

विघ्नहर्ता हैं वो प्यारे बप्पा हैं वो हर साल आते हैं वो खुशियाँ लुटाते हैं वो मूषक सवारी हैं सूरत भी प्यारी है देवों के देव महादेव के हैं लाडले माँ पार्वती के हैं राजदुलारे लड्डू बहुत ही भाते हैं बड़े चाव से खाते

तू ही तू गणपति बाप्पा मोरया। ....

0
08 -Sep-2018 shalu L. Ganesh Chaturthi Poems 0 Comments  463 Views
तू ही तू गणपति बाप्पा मोरया। ....

तू ही तू गणपति बाप्पा मोरया। ............. माटी से बना तू , माटी में मिला तू। किसकी भक्ति तो , किसीकी रोटी तू विश्वास का जरिया, हर साल की आस तू। मांगे तो सब तेरा, मेरा मुझमे तू ही तू। जगत में रहता नाम तेरा, दिल में मेरे तू ही तू ,

जय गणेशयः नमः

0
16 -Sep-2016 Dr. Swati Gupta Ganesh Chaturthi Poems 0 Comments  1,512 Views
जय गणेशयः नमः

गणपति जी हैं सबके प्यारे, शिव गौरा के राजदुलारे, भोली और प्यारी सी सूरत, सवारी बने हैं उनकी, मूषक मोदक उनको बहुत हैं भाते, बड़े प्यार और चाव से खाते, देवों में वह देव हमारे, सबसे पहले उनकी पूजा करते हैं सारे, रिद्धि सि

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017