Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

भरत का सन्यास

0
01 -Jun-2021 Hanuman Gope God Poems 0 Comments  97 Views
भरत का सन्यास

भरत का सन्यास! माता ने स्वार्थ कुछ ऐसा साधा, भगवान के जीवन में आई बाधा। राम ने भी पिता के वचनों को मान लिया, चौदह वर्ष रहूँगा वन में ये ठान लिया। कैकेयी खुश थी मन में फूल गयी, बेटे का चरित्र शायद भूल गयी। भरत ने आते ही

हम वज्रपाणि हम कुलिश हृदय

0
13 -May-2021 Aathrv kumar Dixit God Poems 0 Comments  266 Views
हम वज्रपाणि हम कुलिश हृदय

हम वज्रपाणि, हम कुलिश ह्रदय , हम दृढ़निश्चय, हम अचल अटल। हम महाकाल के रौद्र रूप , हम शेषनाग के अतुल गरल।। हम सृष्टा है, प्रलंयकर हम , हम सतत क्रांति, की परख धार। हम विप्लव रण, चंडिका जनक, हम विद्रोही, हम दुर्निवार।। हम

अब और कितनी परीक्षा नारायण

0
26 -Apr-2021 Ankita Singh ( Ankita Lucknowist ) God Poems 0 Comments  365 Views
अब और कितनी परीक्षा नारायण

अब और कितनी परीक्षा नारायण, कि मनुज तेरा अब थक चुका है l जीवन की दीप ज्योत्सना को हाहाकार की बेदी रख चुका है हर जन्म तुमने कहा मनुष्य जीवन आसान नहीं , पर मैंने तुमसे कहा प्रभु क्या मनुष्यता का मुझे वरदान नहीं , अब जो

मालिनी छंद ("हनुमत स्तुति")

0
21 -Apr-2021 Naman God Poems 0 Comments  181 Views
मालिनी छंद (

मालिनी छंद ("हनुमत स्तुति") पवन-तनय प्यारा, अंजनी का दुलारा। तपन निगल डारा, ठुड्ड टेढ़ा तुम्हारा।। हनुमत बलवाना, वज्र देही महाना। सकल गुण निधाना, ज्ञान के हो खजाना।। जलधि उतर पारा, सीय को खोज डारा। कनक-नगर जारा, राम क

हे भोले

0
28 -Mar-2021 N.K.M.[ LYRICIST ] God Poems 0 Comments  318 Views
हे भोले

SONG :- हे भोले LYRICIST :- N.K.M. [ +916377844869 ] LYRICS :- ::::: INTRO PART ::::----- ये संसार हमें जो दिखता है, तेरी आंखों में ही टिकता है, रचना हर मानव की करता है, भला हर इंसान का करता है, ************************* ::::: CHORUS PART ::::----- हे भोले हम सब तेरे परम भक्त हो रहे हे भोले तेरी वज़ह

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017