Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

हिन्दू हो या चाहे मुसलमान

0

Hindu Ho Ya Musalman : Here is one of the best patriotic poem on the importance of our national events like Republic day, Independence day and Hindu Muslim / Musalman unity or ekta. On national days we should pledge to unite to make our country (India) a developed country. We should celebrate Republic or Independence day with full respect and enthusiasm.

24 -Jan-2018 Sushil Kumar Republic Day Poems 0 Comments  6,679 Views
Sushil Kumar

चलो आज जवानो को दें सलाम,
चाहे वो हिन्दू हो या चाहे मुसलमान,
देश के लिए देशवासियों करो श्रमदान,
फिर बने सोने की चिड़िया हम सबका हो यही अरमान!!

आज सब छोड़ दो अपना सारा काम,
याद करो उनको जिन्होंने भारत को किया आजाद,
उन वीरों के याद में गुजारो आज की शाम,
चाहे वो भक्त रहीम का हो या चाहे राम!!

आओ आज शपथ लें एकता के साथ,
मिल जुलकर हम लोग करेंगें अपना काम,
कोई भी बाकी ना रह जाये इस शाम,
चाहे वो गरीब हो चाहे धनवान!!

जिस धरती पर जन्में राम और कृष्ण जैसे भगवान,
वो कोई और नहीं अपना देश है महान,
देश के लिए कितने वीरो ने दिये बलिदान,
वो है महान देश अपना हिन्दुस्तान!!

सुशील कुमार वर्मा
सिन्दुरियां-महराजगंज
गोरखपुर विश्वविद्यालय



 Please Login to rate it.



You may also likes


How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017