Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

कोई ना अपना रहनुमां है।

0
25 -Jun-2022 ताज मोहम्मद Life Poem 0 Comments  34 Views
कोई ना अपना रहनुमां है।

दर्द दिल के किसको बताएं कोई ना अपना रहनुमां है। सिलेगा ना कोई भी ज़ख्मों को हंसने को बैठा जहां है।।1।। वो खुदको कहते है आलिम शहर का इल्म कुछ ना है। हिफ्ज तो है यूं आयतें कुरान की पर पता ना तर्जुमा है।।2।। इंसानों क

Keep faith in GOD and yourself.

0
24 -Jun-2022 ताज मोहम्मद Life Poem 0 Comments  35 Views
Keep faith in GOD and yourself.

Difficulties come in everyone's life... But not everyone cries...!! Still some people,,, Keep laughing in their trouble...!! But they don't tell anyone... They live life very well...!! They are stronger by all... Believe in their GOD...!! Happiness or sadness is a part of life, Life is a story of four days, Don't live it by crying... It's a gift from GOD, You just think it think...!! You learn to deal with troubles... Don't give up without fighting... GOD lives inside you...!! WHO gives strength to fight troubles to you...!! GOD has given diffe

रामे क बरखा ह रामे क छाता

0
23 -Jun-2022 Dhirendra Panchal Life Poem 0 Comments  9 Views
रामे क बरखा ह रामे क छाता

पटरा पे चदरा बिछाय जालें सुती । खाए के नून भात मरचा आ रोटी । जिनिगी गरीब के अस होरहा भुजाता । त रामे क बरखा ह रामे क छाता ।। मजूरे क देह मेह मारेला तान के । सेतिहा क हइये बा जांगर किसान के । पांजर में कांकर फंसाव ना दु

कितनी अजीब दास्तां ए जिंदगी है हमारी

0
14 -May-2022 Megha Raghuwanshi Life Poem 0 Comments  34 Views
कितनी अजीब दास्तां ए जिंदगी है हमारी

कितनी अजीब दास्तां ए जिंदगी है हमारी पहले अपनी मुश्किलें बढ़ाते खुद हैं सोच के स्तर पर खुद को सताते बहुत है फिर जिंदगी बेकार है, ये बात कहते भी बहुत है कभी खुद के मन को टटोला है कभी खुद से बाते की है अगर की है खुद से

चश्मा ।

0
26 -Apr-2022 Harpreet Ambalvee Life Poem 0 Comments  538 Views
चश्मा ।

सोचता हूं आज अपना चश्मा बनवा ही लू , बस थोड़ा छोटे-मोटे काम निपटा कर आता हूं, फिर मै अपना चश्मा बनवाता हूं, मुन्ने की बड़ी क्लास का खर्चा है, गुड़िया की एडमिशन का भरना परचा है, सारी किताबें, वर्दियां सब लेकर आता हूं म

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017