Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

खाली मकान में

0
16 -Jun-2019 Ravi Ranjan Goswami Lonely Poems 0 Comments  122 Views
खाली मकान में

खाली मकान में दोनों अकेले। पुराने शिकवों पर खूब लड़े । लड़वाने वाले मौजूद नहीं थे । बहुत से गड़े मुर्दे खूब उखड़े । घर में चार बर्तन नहीं थे । टकराकर दो बर्तन भी खूब बजे। किसी की कमी न लगे। हर रिश्ते से हम खूब लड़े।

कभी कभी.सोचती हूँ

0
05 -May-2019 Maya Ramnath Mallah Lonely Poems 0 Comments  183 Views
कभी कभी.सोचती हूँ

कभी कभी सोचती हूँ मैं उसे जितना चाहती हूँ उसका कितना हिस्सा वो मुझे चाहता हैं। कभी कभी सोचती हूँ मेरी रात उस के ख्यालो में बीत जाती हैं क्या उनके ख्यालो में मै आती हूँ। कभी कभी सोचती हूँ मेरे होठो पर तो सिर्फ उसका

कभी न चाहा था मैंने....

1
05 -Feb-2019 Rahul Lonely Poems 0 Comments  237 Views
कभी न चाहा था मैंने....

कभी न चाहा था मैंने ये तुम ही थे जो चले गए, उसपार, इसपार खीच कर रेखा। अब तो ये महफ़िल भी क्या मज़ा देगी, फ़िरदौस भी हवादिस का मज़ा देगी। कुछ देर और तो ठहरा होता, मेरी इख्लासको समझ होता। मेरी अंजुमन से हो के दूर, तुम चले गए उ

Koi mere khwab lootne aya hai

0
14 -Jan-2019 Mansoor Lonely Poems 0 Comments  480 Views
Koi mere khwab lootne aya hai

Koi mere khwab lootne aya hai Rok lo usko Maar do usko Koi keh do..... ke Wo mere hain Bahut mushkil se sajaya hai inhe Sambhala hai inhe Bachaya hai inhe Dard ki qalam se Ashko ki siyahi se Haan Intezar ke panno me Rachaya hai inhe Koi keh do Na mitaye inko Na churaye inko Meri mohabbat ka mehal hai Na dhahaye inko Rok lo usko K wo mere hain...... Meri zindagi ke maqsad hain Mere ansu hain muskurahat hain Fikro gham hai, khushi hain rahat hain Mere sathi hain mera sab kuch hain Bina inke main bahut tanha hu Rok lo usko...... Koi mere khwab loo

अब लौट आओ...!

0
02 -Jan-2019 बदनाम आशिक Lonely Poems 0 Comments  1,883 Views
अब लौट आओ...!

अब लौट आओ...! याद है कैसे तुम मेरी छोटी छोटी बातों पर , हँस दिया करती थी, सुनते तो लोग आज भी हैं मुझे, पर तुम ही एक थी जो मुझे समझती थी ! तेरी आँखों में जब मैं देखने लगता था , तो शाम कब रात हो गयी पता ही नहीं चलता था, तेरे होक

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017