Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

इजहारे इश्क

0
08 -Jan-2020 Hemant Kumar Tayde Love Poem 0 Comments  89 Views
इजहारे इश्क

✍वो हौसला कहाँ से लाऊँ, इश्क ए इजहार मे । तुम ही कह दो, जो नहीं मेरे इख्तियार मे। कोई नक्श नहीं मेरी मंजिल के लिए, हाँ, कहीँ रोशनी तो है बंद दिवार मे। कोई अहद कोई वजह हो , जो वो आये, हम भी बेवजह बैठे हैं, उनके इंतज़ार में।

तहरीर ए इशारत

0
08 -Jan-2020 Hemant Kumar Tayde Love Poem 0 Comments  34 Views
तहरीर ए इशारत

✍इश्क ए मुअम्मा ए पैगाम लिख रहा हूँ। तहरीर ए इशारत उनका नाम लिख रहा हूँ। मुद्दतों से मुद्दतें खामोश बैठी हैं, मुद्दतों बाद फिर से कोई काम लिख रहा हूँ। अब तो जाना ही छूटा जो मैखाने, कसम ए यार से, अब तो होठों पर बस खया

सहारा

0
04 -Jan-2020 Amrit Rex. Love Poem 0 Comments  226 Views
सहारा

तूफानों के दरमियां हमें। तिनके का सहारा मिला। मुश्किलों की इस धूप में कहीं। वसंत का नजारा मिला। काली हो चली थी रातें और फिर एक टूटता सा तारा मिला। डगमगा सी गई थी ख्वाहिशें और फिर हिम्मत का एक पिटारा मिला। बस हार

Jazbaat....

0
04 -Jan-2020 shubham malviya Love Poem 0 Comments  221 Views
Jazbaat....

Ankhe to tarsi hi thi Dilbar ke didaar ko Ab to kaan bhi taraste he sunne ke liye unki pukar ko Dil to tb bhi beitha he karne, unke intezaar ko Magar dil ko kese samajhau Kiye huve unke inkaar ko Sm malviya

क्या यही प्यार हे, क्या यही प्यार हे...

0
25 -Dec-2019 HARIOM AGRAWAL Love Poem 0 Comments  379 Views
क्या यही प्यार हे, क्या यही प्यार हे...

तेरा नाम लूं तो हवाएं चलें, तेरा नाम लूं तो धड़कन चले, तेरा नाम लूं तो सुबह चले, तेरा नाम लूं तो दिन ये ढले, क्या यही प्यार है, क्या यही प्यार है... यह खामोशियां कुछ कहने लगी, यह बेताबियां क्यों बढ़ने लगी, क्यों धड़कन मे

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017