Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

श्रृंगार छंद "तड़प"

0
01 -Aug-2020 Naman Love Poem 1 Comments  130 Views
श्रृंगार छंद

सजन मत प्यास अधूरी छोड़। नहीं कोमल मन मेरा तोड़।। बहुत ही तड़पी करके याद। सुनो अब तो तुम अंतर्नाद।। सदा तारे गिन काटी रात। बादलों से करती थी बात।। रही मैं रोज चाँद को ताक। कलेजा होता रहता खाक।। मिलन रुत आई बरसों बाद

मंजिल ढूँढता हूँ

0
28 -Jul-2020 Mamta Rani Love Poem 0 Comments  110 Views
मंजिल ढूँढता हूँ

होकर सफर का हमराही मंजिल ढूँढता हूँ मिले दिल को सुकून ऐसा संगदिल ढूँढता हूँ बातों में हो साँसों में दिल के जज़्बातों में हो दूरियों में भी पास हो ऐसा स्वप्निल ढूँढता हूँ चाह नहीं उस चाहत की जो होकर भी ना हो अचेत से

प्यार से महकाते होंगे।

0
22 -Jul-2020 Dr. Swati Gupta Love Poem 0 Comments  77 Views
प्यार से महकाते होंगे।

अरमां जाग उठे हैं दिल में, साजन मेरे आते होंगें, अपनी मीठी मुस्कान लिये, घर में खुशियाँ लाते होंगे, जब से गए परदेस सजन, सूनापन है मेरी आँखों में, दीदार कराकर अपना, नैनों में सुख बरसाते होंगें, उन बिन सावन की बदरी भी,आ

हक

0
21 -Jul-2020 abhilekh shayar Love Poem 0 Comments  165 Views
हक

यूं तो बहुत पसंद है मुझे उसकी बड़ी आंखें, उन आंखों में सपने देखू ये हक नहीं मुझे, उसके गुलाबी गाल और पंखुड़ी से उसके होंठ, भंवरा बन रस चुराऊं ये हक नहीं मुझे, कि उसके खुले बाल जैसे काली घटा हो, उस घटा की छांव में सो जा

तस्वीर...

0
16 -Jul-2020 shubham malviya Love Poem 0 Comments  215 Views
तस्वीर...

तस्वीर उनकी देख, आज फिर नम हो गये, जज़्बात आंखो से बह कर कुछ कम हो गये हे चले गये वो हमसे दूर रोका नही हमने उनको जाने से मगर अब हमारी यादो मे वो कही गुम से हो गये हे Sm malviya

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017