Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

ग़ज़ल _ऐ _सादगी

0
16 -Jan-2021 Parmanand kumar Love Poem 0 Comments  72 Views
ग़ज़ल _ऐ _सादगी

*********ग़ज़ल******** By Parmanand Kumar कुछ तो बात है तेरी सादगी में सनम वरना हम भी तुम्हारे ना होते कभी ------- कुछ तो बात है तेरी सादगी में सनम वरना हम भी तुम्हारे ना होते कभी.... -------- ना होते कभी.... ना होते कभी कुछ तो बात है तेरी सादगी में सनम.

ग़ज़ल -ए -शाम होने दो

0
16 -Jan-2021 Parmanand kumar Love Poem 0 Comments  25 Views
ग़ज़ल -ए -शाम होने दो

25.10.2020 6th Poem अंधरा ठाढ़ी Peet me Not Leave एक अंतर्राष्ट्रीय काव्य मैराथन शृंखला में भाग लेने हेतु श्री Devanand Mishra सर(शिक्षक एवं लेखक) द्वारा मुझे नामित किया गया है/ह्रदय से आभार सर का/ इस मैराथन में कविताओं का विभिन्न भाषाओं में अन

शिकायत न शिकवा कोई

0
15 -Jan-2021 bharat Love Poem 0 Comments  41 Views
शिकायत न शिकवा कोई

लाख समझो मुझे तुम खिलौना कोई.. पर मुझे है शिकायत न शिकवा कोई.. याद आते हो क्यों ये पता भी नहीं.. हो हकीकत में तुम या हो सपना कोई.. छोडकर चल दिए साथ तुम इस तरह.. दोस्ती अपनी हो जैसे खिलौना कोई.. तुम मिले और मिलकर बिछड़ यूं ग

मुस्कुराते हैं तेरी बात करके

0
12 -Jan-2021 Vishal मिश्रा Love Poem 0 Comments  22 Views
मुस्कुराते हैं तेरी बात करके

मुस्कुराते हैं_________ तेरी बात करके उन हसीं_______ लम्हों को याद करके अरे लानत हो _______ ऐसी जिंदगी पे जो जीत जाए___ इश्क़ को मात करके देख तेरे बगैर ही__________ जी रहे हैं हैरां है हम ________ ये करामात करके अभी ही उठे हैं________ सजदे से हम ते

उनसे मोहब्बत हम करके देखेंगे

0
07 -Jan-2021 Vishal मिश्रा Love Poem 0 Comments  75 Views
उनसे मोहब्बत हम करके देखेंगे

उनसे मोहब्बत हम करके देखेंगे इश्क़ मौत है अगर तो मर के देखेंगे एक मुद्दत से आंखें तरस रही है मुलाकात हुई तो जी भर के देखेंगे अपनी आंखों में दरिया लिए फिरती है ऐसा है तो हम उसमें उतर के देखेंगे सुना है बाहों में फ़ि

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017