Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

डरने की क्या बात है

0
15 -Feb-2019 Akanksha Thawait Love Poem 0 Comments  157 Views
डरने की क्या बात है

डरने की क्या बात है चार दिन की चाँदनी फिर अंधेरी रात है, पर जब हम तुम दोनों साथ हैं तो डरने की क्या बात है। मेरे हाथों में तेरा हाथ ये तो बस शुरुआत है, जिंदगी से हो रही मेरी पहली मुलाकात है। मन है बहुत चंचल काबू में ना

Do alfaaz....

0
09 -Feb-2019 shubham malviya Love Poem 0 Comments  171 Views
Do alfaaz....

Tera bagal se guzar jaana Kisi mulaqat se kam nahi, Ankho ka tera he kajal Din me, kisi rat se kam nahi, Kya hua agar pass nahi ham tumhare, Dil me khuda se tumhare liye Ebadat to kam nahi....... Sm malviya

प्यार......

0
08 -Feb-2019 Piyush Raj Love Poem 0 Comments  107 Views
प्यार......

पापा की परी माँ की दुलारी अपने घर मे थी मैं सबकी प्यारी पापा के कंधे पर बैठ मेले घूमना खिलौने की जिद करके रूठना माँ की बिंदी-चूड़ी ओर पायल पहनना शरारत कर माँ के आँचल के पीछे छुपना याद है मुझे माँ -पिता का वो स्नेह और

हज़ारो लम्हे थे...

0
08 -Feb-2019 Ravindra Shrivastava Love Poem 0 Comments  150 Views
हज़ारो लम्हे थे...

हज़ारो लम्हे थे उन सुकून भरी यादों के, ओस से भीगें थे पहलू उन सायों के, फ़ना न हो जाए यूँ गर तन्हाईयाँ मिलें, भूल जाओ तुम फिर क्या हो उन वादों के... कश्तियों की मंजिल भी होती है मुकम्मल, मुसाफिरों के भी होते है दुरुस्त-ए-

दरमियां अपने भी कोई बात तो होती...

0
06 -Feb-2019 Rahul Love Poem 0 Comments  156 Views
दरमियां अपने भी कोई बात तो होती...

दरमियां अपने भी कोई बात तो होती, ख्वाबो में सही अपनी मुलाक़ात तो होती। दिल की बात किस तरह कह दे हम आपसे, माहे-शब् में साथ गुज़र रात तो होती। दरमियां अपने भी कोई बात तो होती। वस्ल से और इश्क़ से पुरजोश हो गोया, अहबाब से, उ

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017