Latest poems on teachers day, sikshak diwas kavita

Niswarth Prem

0
15 -Oct-2018 Stuti Prerna Love Poem 0 Comments  39 Views
Niswarth Prem

Saath tumney taye kia, Yaadein mainy bnadi, Waqt tumney dia, Lamhey humdono ne sanjo liya, Kbhi cheda tumney mujhy, Toh kbi preshan mainy v kia, Laambi ratein v kaati, Pyary jazbat v bayan hue, Wafa tumney v nibhae, Wafa mainy v nibhae, Par insab k baad, Jab dor tumney kich li... Toh siray ko dhil mainy v deydi. Aakhir,saath tumney joda tha Toh khusi-khusi saath nibhana v toh mujhy tha......! - Stuti Prerna

प्यार का नशा.......!!!

0
01 -Oct-2018 pravin tiwari Love Poem 0 Comments  66 Views
प्यार का नशा.......!!!

प्यार का नशा तो, हर शख्स पे चढ़ा है। लगता है की जैसे प्यार, मयखानों में बिक रहा है। कोई खरीदता है तो, कोई प्यार में बिक रहा है। आज कपड़ों की तरह, हर रोज प्यार बदल रहा है। पर प्यार के सही मायने, यहां कौन समझ रहा है.? सिर्

पिया तेरे नाम का मैं सिंगार करूं....!!!

0
28 -Sep-2018 pravin tiwari Love Poem 0 Comments  143 Views
पिया तेरे नाम का मैं सिंगार करूं....!!!

जब भी मैं बैठूं आईने के सामने, पिया तेरे नाम का मैं सिंगार करूं....! सोचूं मैं जो मेरे अंग पे सजे, उन सारी चीजों को तेरे नाम करूं....! भिगोकर अपनी चाहत से, मेरी उलझी लटों को तू संवार दे....! भार के मुझे तू अपनी बाहों में, सर पे

लोफर का ओफर

0
27 -Sep-2018 Naren Kaushik Love Poem 0 Comments  31 Views
लोफर का ओफर

हम तो हैं मस्ताने लोफर लेलो लेलो अपना भी ओफर, मैं मस्त हवा का झोका न चाहते रोका टोका, करतें हैं अपने मन की जो आये अपने आड़े उसको मारे हैं ठोकर, हम तो हैं दिवाने लोफर।२ कलियों पे में मडराऊ भंवरे सा अपना जीवन, प्यासी ह

वियोग

0
27 -Sep-2018 Mansoor Love Poem 0 Comments  57 Views
वियोग

मेरी प्रियतमा, कुछ तो बोलो कुछ अपनी कहो, कुछ सुन तो लो मन पुन: उमंग से खिल जाए मुस्काओ तो जीवन मिल जाए फिर संग समय के इस पल को मेरी संगिनी बन कर तुम जी लो मेरी प्रियतमा, कुछ तो बोलो मृगनयनी, अप्सरा हो तुम पूर्ण सुंदरता

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017