Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

आशिक शायर

0
29 -May-2021 Syed Sameer Love Poem 0 Comments  20 Views
आशिक शायर

फोन पर गुफ्तगू करते करते पूछने लगी उनकी बहना। यह कौन शख्स है जरा हमको भी बतला देना। वह कहने लगी, है मोहब्बत का मारा हुआ शायर। शायद दिल का मुकदमा कर दिया है किसी पर दायर। हम तो मन ही मन गदगद हुए बैठे थे। बेशक उनके चेह

फ़िलहाल अच्छा है

0
25 -May-2021 सिद्धार्थ पांडेय Love Poem 0 Comments  4 Views
फ़िलहाल अच्छा है

उससे कह देना जरा ,के मेरा हाल अब अच्छा है। तुझे तलाश थी दौलतों की ,पर वो कंगाल अच्छा है। जिसे तुमसे नकारा समझ के मुँह मोड़ लिया, मेहनत कर रहा है खुद के लिए, फिलहाल अच्छा है। -सिद्धार्थ पाण्डेय

सोणिया

0
25 -May-2021 N.K.M.[ LYRICIST ] Love Poem 0 Comments  11 Views
सोणिया

SONG :- सोणिया LYRICIST :- N.K.M. [ +916377844869 ] LYRICS :- :::::------ INTRO PART :------ जगह-जगह इधर-उधर मैं घूम लिया, पसंद ना आया कुछ भी अब किसको देखूं... ******************************* ::::::------- CHORUS PART ::----- सोणिया जब तेरी पायल देखूं, तो खुद को तेरे सामने घायल देखूं... सोणिया जब तेरी अंखियां

तू कठे चाली ए

0
23 -May-2021 N.K.M.[ LYRICIST ] Love Poem 0 Comments  16 Views
तू कठे चाली ए

SONG :- तू कठे चाली ए LYRICIST :- N.K.M. [+916377844869 ] LYRICS :- :::::::-----INTRO PART :::::------- मारी जानी है तू, दिलां आली राणी है तू, फिल्मां आली मारी हीरोइन है तू, सब कुछ तू ही है तू तू ही है तू, **************************** ::::::-----PRE-CHORUS PART :::::------- अता घणा शब्द बोल दियो, मैं केवल बस थारे खात

दूजी लुगाइयों से फरक

0
19 -May-2021 N.K.M.[ LYRICIST ] Love Poem 0 Comments  12 Views
दूजी लुगाइयों से फरक

SONG :- दूजी लुगाइयों से फरक LYRICIST :- N.K.M. [ +916377844869 ] LYRICS :- :::---- INTRO PART :- पीके थारे हाथ की चाय मैं कड़क, कन्टरोल कोनी होवे आंख्या करें फड़क, ******************************** :::---- CHORUS PART :- दूजी लुगाईयो से करता हूं मैं तुझमें फरक... दूजी लुगाईयो से करता हूं मैं तुझ

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017