Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

लोग कहते हैं कि मुझे भी है प्यार हो गया

0
31 -Mar-2020 Vinod Gupta Love Poem 0 Comments  107 Views
लोग कहते हैं कि मुझे भी है प्यार हो गया

ना जाने क्या जादु सा हो गया ये दिल तुझ पर है रुक गया ऐसा लगता है जीवन में आ गया है मौसम कोई नया लोग कहते है कि मुझे भी है प्यार हो गया जमीन को देखु आसमान में देखु या देखु किसी दीवार को हर जगह हमें तो बस तेरा दीदार हो गय

क्या हकीकत है वो...?

0
30 -Mar-2020 HARIOM AGRAWAL Love Poem 0 Comments  89 Views
क्या हकीकत है वो...?

मेरे ख्वाबों में आए,रंगों से सजाएं, फिर खयालों में आए,मेरी नींद उड़ाए, रोज सपनों में आए,क्या हकीकत है वो...? रुप एसा सुहाना, कर दे दिल को दीवाना, मिलना चाहूं मैं उनसे, रोज कर के बहाना, जब वो सामने आए, चांद भी शरमाए, रोज सप

Kuch is wajah se bhi....Dev

0
19 -Mar-2020 Devender Kãûšhîk Love Poem 0 Comments  0 Views
Kuch is wajah se bhi....Dev

Kuch is wajah se bhi Log Hamse nafrat karte hai... Ke hum Apne dil ki sunte hai Or apne man ki karte hai.... Mana honge ap badshah shatranj ke khel main... Magar hujur sari Baji palat jati hai jb hum apni chal chalte hai... Kehti hai hume ki pagl hai Kuch nahi janta hai... Magar tere isharo ke hum sare matlab samajte hain... Badshah hai vo dil ke Hum gulam hai unke Unka har hukum hum apna Farj samajte hai... Na usne kuch khawaish ki Na hum kuch de paaye... Khuda jane vo khud kya Or humko kya smjte hai... Dev☺️

Aash

0
18 -Mar-2020 Rajnish Kumar Love Poem 0 Comments  195 Views
Aash

हम तो आश लगाए बैठे है। बस तेरे साथ वक्त बिताने की , जब तक साथ है तेरा तब तक हम अपना हक जताने की, इस पल को जीने की आश लगाए बैठे है ।। बस तुझसे चाह है हमें , कुछ पल के लिए तू चाह हमे, ना ही ओर कोई अभिलाषा हमे, बस कुछ पल संग तेर

छोड़ कर तुम हमें, यूं ना जाया करो (CHHOD KAR TUM HAMEIN YUN NA JAYA KARO))

5
11 -Mar-2020 Dr. DINESH KUMAR KOLI Love Poem 0 Comments  306 Views
छोड़ कर तुम हमें, यूं ना जाया करो (CHHOD KAR TUM HAMEIN YUN NA JAYA KARO))

छोड़ कर तुम हमें, यूं ना जाया करो वक्त हमसे अकेले में, कटता नहीं कोई हमसे गिला हो, तो कह दो अभी बिन तुम्हारे ये दिल अब, धड़कता नहीं छोड़ कर तुम हमें, यूं ना जाया करो वक्त हमसे अकेले में, कटता नहीं तुम जो रूठोगे, तो हम कह

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017