Latest poems on teachers day, sikshak diwas kavita

मीठी याद

8
05 -Mar-2017 Goonj Farewell Poems 4 Comments  2,596 Views
Goonj

सुना था कि विद्यालय हमारा दूसरा घर होता है ,
जहाँ इंसान बहुत कुछ पाता है , नहीं कुछ खोता है

यह सच है , आपसे मिल कर हुआ इसका एहसास ,
आपके साथ बिताया हुआ हर लम्हा है हमारे लिए खास

आपने न केवल अध्यापिका बनकर , बल्कि एक माँ बनकर हमें सिखाया ,
आपने दुनिया को एक अलग नज़रिए से दिखाया

चाहे चन्द्र किरण की कविता हो , या मुंशी प्रेमचंद की कहानी ,
सबकुछ हमेशा दिलचस्प लगा आपकी ज़ुबानी

जुदा ज़रूर हो रहे हैं हम , पर यादें हमेशा रहेंगी साथ ,
आपका वह खिलखिलाता चेहरा , वह शाबाशी भरे हाथ

हमेशा याद रहेगी वह तारीफ़ करती भीनी मुस्कुराहट ,
हमारे किताबों में झाँकती वह निगरानी भरी आहट

"गृहकार्य नहीं किया तो खड़े हो जाइए ,
पुस्तक नहीं लाई , कक्षा से बाहर जाइए "
कभी जो डाँट चुभती थी , आज वह भी लगने लगी है प्यारी ,
आपकी कही हुई बातें हमेशा याद रहेंगी सारी

शरारत करने पर आपका वह गुस्से से भरा चेहरा ,
भावुक कविता सुनने पर , आपकी आँखों में आँसुओं का पेहरा

कबीर के उन मुश्किल दोहों को , आपका आसान बना देना ,
मुंशी प्रेमचंद की उन लंबी कहाँनियों को , बिना सुलाए पढ़ा देना

आप हमारी ज़िन्दगी में एक नया सवेरा लेकर आईं , जैसे हो पहली बूँद बारिश की ,
कभी अलविदा न कहना , है हमारी आपसे गुज़ारिश यही

आप हमेशा हमारे दिलों में एक मीठी याद बनकर रहेंगी ,
जिसके बारे में सोचकर अश्कों से भरी आँखों के साथ एक साथ एक दिन मुस्कराएँगे हम सभी .



 Please Login to rate it.



You may also likes


How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

4 More responses

  • poemocean logo
    Afshan Hassan (Guest)
    Commented on 15-March-2017

    Ur unbeaten .

  • poemocean logo
    BASHARATUL ISLAM (Registered Member)
    Commented on 10-March-2017

    Nice work !!
    Keep it up.

  • poemocean logo
    Shanya Rao (Registered Member)
    Commented on 09-March-2017

    Truly amazing.

  • poemocean logo
    Nobita (Registered Member)
    Commented on 05-March-2017

    loved it <3 great words and heart touching <3.

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017