Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

तेरा ही मां

0
02 -Feb-2021 N.K.M.[ LYRICIST ] Mothers Day Poem 0 Comments  162 Views
तेरा ही मां

POEM :- तेरा ही मां POET :- N.K.M. [ +916377844869 ] LYRICS :- :::::----- INTRO PART ::::::---- इस दुनिया के दर्शन हुए पहला दर्शन था तेरा ही मां , गलतियों में भी हम ही हुए, छुपने का आंचल था तेरा ही मां, ******************** :::::----- PRE-CHORUS PART ::::::---- मां को पता है , बच्चा गलत मेरा है, हाथ मेरे ऊप

माँ अनंत है!

0
16 -Jan-2021 Parmanand kumar Mothers Day Poem 0 Comments  79 Views
माँ अनंत है!

सुबह से देख रहा हूं कि मां को लेकर तमाम सोशल साइट्स पर मां की कृति को उजागर किया जा रहा है क्योंकि आज मातृ दिवस है और मैं भी यूं ही मां के बारे में कुछ सोच रहा था कीमा मैं तुझे कैसे आज तेरे श्रद्धा में कुछ समर्पित कर

माँ Mother

0
16 -Jan-2021 Parmanand kumar Mothers Day Poem 0 Comments  113 Views
माँ Mother

Happy mother's Day ! माँ माँ, तुम जननी स्वर्ग सुख हो! गंगा से भी पावन हो! रक्त स्रोत हो; संतानो का, तुम ही जीवन सागर हो! समुद्र मंथन से प्राप्त अमृत देव प्रिय रहा है! किंतु, परिवार मंथन से प्राप्त विष, सहर्ष तुमने स्वीकारा है! तुम ग

Maa Tum bhi na Kamal Karti Ho

0
24 -Jul-2020 Naqvi Raza Abid Mothers Day Poem 0 Comments  537 Views
Maa Tum bhi na Kamal Karti Ho

दिन भर हमारे लिए ख़ुद को निढाल करती हो, मां, तुम भी ना, कमाल करती हो स्कूल ना जाने के लिए मेरे बहाने झेलना, पापा के लिए सुबह की चाय उड़ेलना एक ही वक्त़ में सबको कैसे ख़ुश करती हो मां, तुम भी ना, कमाल करती हो। _ अच्छा दिख

माँ!

0
01 -Jun-2020 Ayush Mothers Day Poem 0 Comments  231 Views
माँ!

दिल में जो होता हैं मैं तुम्हें कहा बता पाता हुँ तुझे कितना चाहता हुँ ये कहा जता पाता हुँ माँ! तु क्या हैं मेरे लिए मैं तुम्हें कहा समझा पाता हूं पीट के मुझे चुप कराती तु हैं मैं रूठता हुँ तो मनाती भी तु हैं चोट अगर

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017