Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

TRANQUIL NIGHT DREAM

0
28 -Jun-2019 Sahaj Sabharwal Motivational Poems 0 Comments  68 Views
TRANQUIL NIGHT DREAM

TRANQUIL NIGHT DREAM Night dream is just a virtual world, Till it is boundless and not bold. A good night dream,  Resembles a fresh, white, well toned cream. Sleeping in tranquil night, Aiming to achieve the goal at any height. To get real success in any field, Even night dream works to provide us the courage to yield. In the mind of a stakeholder, Mostly the goal got the platform and support as a strengthened shoulder. Just hardwork and luck can help us achieving aim, Which is just a night dream which has now been achieved and not just fame.

"हो मत उदास"

0
28 -Jun-2019 Mukesh Kamti Motivational Poems 0 Comments  117 Views

"हो मत उदास" हो मत उदास तू उड़ेगा एक दिन अपने पंख में हवा देकर तो देख माना मंजिल में कांटे बहुत है इन्हीं कांटो को चुन-चुन आगे बढ़कर तो देख होशलो की बारिश में अपनी मेहनत को भिगो के तो देख हो मत उदास तू उड़ेगा एक दिन अप

अच्छे कर्मों से तुम अपनी पहचान बना लेना....!!!

0
18 -May-2019 pravin tiwari Motivational Poems 0 Comments  150 Views
अच्छे कर्मों से तुम अपनी पहचान बना लेना....!!!

प्यार के दो अल्फाज़, तुम मुस्कुरा के बोल देना... कोई रुठे जो तुमसे, तो उसे प्यार से मना लेना... रब की इस दुनिया में, सबकी किस्मत एक सी कहां... दिखे जो कोई बेबस, तो उसे गले से लगा लेना.... बेशक तुम रहना, खुशियों की महफ़िल में....

मत कर गुरुर ऐ इंसान तू

0
14 -May-2019 Vaibhav Mandowara Motivational Poems 0 Comments  141 Views
मत कर गुरुर ऐ इंसान तू

मत कर गुरुर ऐ इंसान तू अपने आप पर , पंच तत्वों से बना तू वो मिटी का पुतला है , जो एक दिन पुनः इन्ही में मिल जाये गा , मुठी बन्द कर के आया था तू इस जहां में , बन्द मुठी में लाया था ज्ञान और पुण्य की शक्ति का पिटारा , जिसे मुठ

कुछ पल ही तेरे पास है!

0
12 -May-2019 DEEPAK CHOUDHARY Motivational Poems 0 Comments  163 Views
कुछ पल ही तेरे पास है!

कुछ पल ही तेरे पास है कुछ पल की ही यह बात है! ना खुद पे तू बन्दिश लगा, ना खुद से तू नज़रें चुरा तू कर गुजर जो मन में है, बहुतों को तुझसे आस है कुछ पल ही तेरे पास है कुछ पल की ही यह बात है! तू खुद को ना खुद से दूर कर, थोड़ा मन

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017