Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

"हवाई-जहाज बनी साईकिल"

0
18 -Jan-2022 Ravi Motivational Poems 0 Comments  14 Views

ज़िन्दग़ी कैसे-कैसे कहॉं से कहॉं ले जाती है, जूनुनी मेहनत भी कहॉं से कहॉं पहुॅंचाती है। ये उनसे पूछो जिससे किसी ने सोचा नहीं था, जिसने मेहनत के आगे कभी घुटने टेका नहीं था। कड़ी मेहनत और लगन से तक़दीर बदलने की, दुनि

जीत

0
16 -Jan-2022 rtripathi Motivational Poems 0 Comments  3 Views
जीत

समय लगेगा तो लग जाने दो उम्मीदों के परिंदे को उड़ जाने दो हम हार के बैठे हैं जी जाने को मुद्दत भी लगे तो लग जाने दो हम ठान के बैठे हैं जीत को।। वादी नहीं बस इरादों का भरोसा है समा हार का टूटेगा वक्त भी इस दौर का गुजरे

अकेला का बल

0
01 -Jan-2022 Ravi Motivational Poems 0 Comments  135 Views
अकेला का बल

अकेला तू आया है अकेला ही तू जाएगा, ऐ कटुसत्य वचन न जाने कितनी बार। महापुरुषों ने अवतरित हो, हमें बार-बार समझाया है। अकेला का ‌महत्व सिर्फ़ जन्म-मृत्यु से नहीं, बल्कि हर क्षेत्रों में इसका महत्व समाया है। जो भी व्य

नववर्ष की अभिलाषा

1
26 -Dec-2021 satyadeo vishwakarma Motivational Poems 0 Comments  70 Views
नववर्ष की अभिलाषा

नववर्ष की अभिलाषा हो चमन के फूल गुलशन में महकते ही रहो, हो डगर कितनी भी मुश्किल आगे बढ़ते ही रहो.... तेज झोकों से कहीं न टूट जाये डालियाँ, नफ़रतों से जल न जाये रिश्तों की फुलवारियाँ, बन विवेकानंद दुनिया में दमकते ही रह

मैं हूँ करेक्टर लेस, तुम क्यों हो जाते हो

0
03 -Dec-2021 Kumar Ashish Motivational Poems 0 Comments  47 Views
मैं हूँ करेक्टर लेस, तुम क्यों हो जाते हो

मै हूँ करेक्टर लेस, तुम क्यों हो जाते हो मै हूँ करेक्टर लेस तुम क्यों हो जाते हो तुम करेक्टरलेस हो जाते हो इसलिए ही हम हो जाते है टाइट छोटे पहन पहन फिगर ऐड दिखाते हो गर किसी की पड़े नजर तो उसको ही कोसे जाते हो तुम करे

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017