Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

-अश्रु बहाना छोड़ दिया।।

0
31 -Aug-2020 Dr. Swati Gupta Motivational Poems 0 Comments  537 Views
-अश्रु बहाना छोड़ दिया।।

मुश्किलों से अब हमनें घबराना छोड़ दिया, छोटी छोटी बातों पर अश्रु बहाना छोड़ दिया। उम्मीद का दामन पकड़ा है जब से हमनें, निराशा ने इस दिल का आशियाना छोड़ दिया। आस की ज्योति जलाई अपने मन-मंदिर में मैंने अंधेरे ने बात-बात

शाम भी ढल गई ज़िंदगी में एक नए सवेरे के लिए

0
29 -Aug-2020 Tanmay Jain Motivational Poems 0 Comments  130 Views
शाम भी ढल गई ज़िंदगी में एक नए सवेरे के लिए

यह शाम भी ढल गई इस उम्मीद के साथ की सबकी ज़िंदगी में एक नया सवेरा हो । नए सपने हो कुछ जो नए भी मिलें वो अपने हो नई मंजिल हो और हर चीज को पाने के लिए चाहत हो । तुम्हे इस नए सवेरे यह एहसास हो की यह जिंदगी बहुत खूबसूरत है ।

सुबह फिर होगी

0
24 -Aug-2020 Rizwan Riz Motivational Poems 0 Comments  235 Views
सुबह फिर होगी

इस अंधियारी रात के बाद सुबह फिर होगी, सब्र करो, हिम्मत रखो सुबह फिर होगी !! फिर लगेंगे खुशियों के मेले, दौड़ेंगी फिर से ये ठहरी हुई सड़कें, फिर से घूमेंगे हम-तुम, लिए हाथों में हाथ अपनी पसंद के शहरों में !! फिर से करेंगे इ

कामयाबी और मेहनत।

0
17 -Aug-2020 सुमित.शीतल Motivational Poems 0 Comments  195 Views
कामयाबी और मेहनत।

नमस्ते एहसास अपनेपन का ग्रुप परिवार। मैं सुमित अपनी एक और कविता प्रस्तुत कर रहा हूं। आशा करता हूं कि आप सभी को ये कविता बहुत पसंद आयेगी। कृप्या करके आप सभी अपना प्यार और आशीर्वाद देकर कृतार्थ करें। कविता: कामया

Mat kos apni kismat ko

0
07 -Jul-2020 PURNIMA KUMARI Motivational Poems 0 Comments  220 Views
Mat kos apni kismat ko

MAT KOS APNI KISMAT KO Oo rahi tu bas chlte ja Gir kar bas uthte ja Mana rasta hai kthin Par tere erade hai mjbut Oo rahi tu bas chlte ja Mat kos apni kismat ko Aasani se jo mil jaye Us chij ka luft kaha Mana tera waqt hai khrab Par erade tere hai mjbut Mat dar tu un kthinaiyo se Oo rahi tu bas chlte ja Mat kos apni kismat ko Kismat ki chinta chhor de Tu to bas karm kar Ak din tu khud dekhega Sflta tere kadam chumegi Oo rahi tu bas chlte ja Mat kos apni kismat ko Kamjoriyo ko apni takt bna Hosle apni buland rkh tu Aaj jo tujhse muh ferte hai Ka

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017