Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

........बुढा़पा बिना सहारा .......

0
10 -Apr-2020 Shivendra Singh Old People Poems 0 Comments  661 Views
........बुढा़पा बिना सहारा .......

आया जब बुढापा, छोड़ साथ सब भागे | हम कल तक थे जो सबके , आज रह गये अभागे | औलाद के खातिर हम, मंदिर मस्जिद भटके | बुढा़पे में औलादें अक्सर, चलती परछाई से हटके | जिन बच्चों को लेकर, हम गये कभी थे मेले | समय ऐसा अब आया कि , हम लगत

Beta tumhara intazar hai

0
02 -Oct-2018 Nainsi Jain Old People Poems 0 Comments  885 Views
Beta tumhara intazar hai

Un nanhe-nanhe kadmon ki aahat, aaj bhi dil me kayi baar hai. Tere bachpan ki us kilkari se, aaj bhi mera man utna hi sarobaar hai, Tere bachpan se jawani tak ke har safar se, mere bete aaj bhi mujhe pyar hai. Is vradhashram k aangan me, tera koi kar raha intazar hai. Kya aaj bhi tu chhoti chhoti baton pe, zid kiya karta hoga. Kya aaj bhi tu apne spnon me, zindagi jiya karta hoga. Kya aaj bhi tere dil me, dusron ke liye utna hi pyar hai, Mere in kanon ko papa sunne ka, kabse intazar hai. Teri har zid puri karne ko mera man, aaj bhi utna bekarar

वृद्धाश्रम / vridhasharam

1
03 -May-2018 रजनीश झा Old People Poems 0 Comments  3,198 Views
वृद्धाश्रम / vridhasharam

एक बार वृद्धाश्रम गया था तो मेरे एक मित्र ने मुझसे पूछा भाई वहाँ कुछ देखा ? मैंने कहा हाँ भाई देखा उसने पूछा क्या देखा तो मैंने कहा—- वृद्धाश्रम में मैंने कुछ वृद्धो को बैठे देखा है। निर्मल कोमल नयनो से अश्रु को छल

कल आज और कल...!!

0
कल आज और कल...!!

आज कुछ शब्द उन बूढे बुजुर्ग माता पिता को उन्हीं के भाव के रूप में समर्पित जो हमारे बागवान बन कर सारी उम्र हमें सींचते हैं,जिनकी उंगलियों को पकड़ हम समय चक्र के पहियों पर बैठ जीवन रूपी सफ़र को तय करते हैं और जब हमें ह

वृद्धाश्रम / Vridhashram

0
09 -Jan-2018 Jyoti Old People Poems 0 Comments  4,774 Views
वृद्धाश्रम / Vridhashram

आँसू जो मेरी आँखों से बह निकले है देखा है जबसे माँ - बाप को वृद्धाश्रम में बेटा ! मोल तुमनें भी क्या है चुकाया ममता का आँखे माँ की बुनती थी सपने अपने बच्चे के बड़े होने के रातों को जगती थी दिन में कामों में थकती थी सोच

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017