Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

बेवजहा मैं यू घूमता रहा

0
27 -Dec-2021 Swami Ganganiya Peace Poems 0 Comments  95 Views
बेवजहा मैं यू घूमता रहा

बेवजहा मैं यू घूमता रहा न जाने मैं क्या ढूँढता रहा तन्हा था मैं फिर भी मैं दूसरों के साथ न जाने क्यों घूमता रहा अकेला था मैं उसमें न जाने क्या ढूँढता रहा फिर भी मैं अकेला ही रहा और अकेला ही मैं घूमता रहा जब तू नही था

(141) शान्ति

0
22 -Dec-2021 Madhu Peace Poems 0 Comments  166 Views
(141) शान्ति

गुस्से में जब मैंने चिल्लाया, माँ ने कहा शांति शांति शांति। बच्चे शोर मचा रहे थे कक्षा में, अध्यापक ने कहा शांति। सत्संग में गुरूजी बोले , ॐ शांति शांति शांति। आखिर क्या है ये शांति? वातावर्ण में सन्नटा छा जाये, क्

शिकायत है

0
24 -Aug-2020 Rizwan Riz Peace Poems 0 Comments  498 Views
शिकायत है

राम को रहीम से और रहीम को राम से शिकायत है। होनी भी चाहिए क्योंकि ये दोनों बरसों-बरस के साथी रहे हैं। ऐसे साथी जिनको एक-दूसरे से अलग कर पाना मुश्क़िल है। उतना ही मुश्क़िल, जितना ख़ुद को ख़ुद से अलग करना। मगर आज राम ने रह

हर आदमी भटकता है इस जहां में

0
12 -Mar-2018 Akshunya Peace Poems 0 Comments  2,801 Views
हर आदमी भटकता है इस जहां में

हर आदमी भटकता है इस जहां में, कभी धरती पर कभी आसमां में, उस बला की तलाश में, जिसे सुकून कहते हैं तेरी मेरी जुबां में। मिल सकता गर उधार में, मैं भी ले लेता मन भर झोली पसार के, या फिर मोल भाव करता उसका बाजार में, चुरा सकता

Call to Humanity

0
20 -Nov-2017 Prem Sagar Peace Poems 0 Comments  1,024 Views
Call to Humanity

Come on eveyone Come on everyone Let us this world make a heaven. Love for all, for none hatred, No fighting and no violence, Let there be peace and tolerance, that is the way, how hearts are won, how hearts are won, Come on everyone No boundaries and no barriers, Let us be all peace carriers, Hindu, Muslim, Sikh, Christians, Whether Indians, Chinese or Americans, true master makes us all brethren, true master makes us all brethren, Happiness for all, we always pray, No ill will "Sagar" come what may, Think good, do good humanity, Everyone may

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017