Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

तेरा नेता

0
04 -Apr-2019 BINOD KUMAR SHAW Politics Poem 0 Comments  223 Views
तेरा नेता

हाथ जोड़ कर आए नेता अपने वोट बढ़ाने, देख गरीबो तुझे लूटने तेरे घर फिर आए। वोट चिन्ह तुम्हें दिखाकर आंखों में छवि छपाए, वादाओ की पुल बांधे आंखों में किरण जगाए| मांस मदिरा खिला पिलाकर मोटर पर बैठाए, वोट कच्छ में तुम्

मतदाता जागरूकता के लिए मुक्तक

0
03 -Apr-2019 Anand kumar (Manish) Politics Poem 0 Comments  118 Views
मतदाता जागरूकता के लिए मुक्तक

१) लोकतंत्र का महापर्व आया हमने अपना कर्तव्य निभाया हम सब निष्पक्ष मतदान करेंगे सबको मैंने यह वचन दिलाया २) नदी नाला न साफ हुआ किसानों का कर्ज न माफ हुआ झूठे वादे कर गए नेताजी जनता के साथ न इंसाफ हुआ ३) कभी-कभी देश ब

तो श्रीमानजी "मैं भी चौकीदार"

0
03 -Apr-2019 jagmohan jetha Politics Poem 0 Comments  135 Views
तो श्रीमानजी

भारत मां के रणवीरो की कर्म और शहादत पर कर कर वार अगर यूं ही कराते रहोगे तुम दुश्मनों सेअपनी जय जयकार..... तो श्रीमानजी "मैं भी चौकीदार" ! मजहब के नाम से बांटने देशद्रोहियों के तलवे चाटने से अगर यूं ही तुम्हारे मन में आ

वोटिंग करने जाएंगे (ठीक है)

1
01 -Apr-2019 Anand kumar (Manish) Politics Poem 0 Comments  142 Views
वोटिंग करने जाएंगे (ठीक है)

लोकतंत्र का महापर्व आया इसको हम मनाएंगे_ठीक है लोकतंत्र का महापर्व आया इसको हम मनाएंगे वोटिंग करने जाएंगे अपना कर्तव्य निभाएंगे_ठीक है वोटिंग करने जाएंगे अपना कर्तव्य निभाएंगे_ठीक है कईसे-कईसे सब मान गइले वोट

100-100 के नोट

1
28 -Mar-2019 Anand kumar (Manish) Politics Poem 0 Comments  197 Views
100-100 के नोट

हमारे गांव में नेता आया चौराहे पे उसने सब को बुलाया 100-100 के नोट बटवाया मतदाताओं को उसने लुभाया उतने में आनंद जी आया उसने सबको खूब समझाया निष्पक्ष मतदान का वचन दिलाया फिर सब ने नेता को मार भगाया ©️ आनंद कुमार (मनीष) प

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017