Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

चुनावी मेंढक Poem on Election

0
06 -Feb-2020 Vikas Kumar Giri Politics Poem 0 Comments  52 Views
चुनावी मेंढक Poem on Election

फिर से निकलेंगे चुनावी मेंढक इस चुनाव में, वो घोषणाओं के पुल बांधेंगे, लोगो को लालच देकर बहलायेंगे और फुसलायेंगे, सभी जाति-धर्मों के लोगों से अलग -अलग मिलकर उनका दुखड़ा गाएंगे। नीले सियार के वेश में आकर खुद को शे

धर्म का व्यापार

1
19 -Jan-2020 the_holy_rain Politics Poem 0 Comments  248 Views
धर्म का व्यापार

अंग्रेजों की राजनीति ने क्या खेल दिखाया धर्म को हथियार बनाकर अपना हुकूमत जमाया तब देशवासियो की सहायता एकटा ने किया और अंग्रेज का साम्राज्य डगमगा गया फिर झुलम की ज़ंजीरें सुन्न पड़ गयी अपने देश को हमने आज़ादी दिल

अकेला

0
25 -Dec-2019 Abbas Bohari Politics Poem 0 Comments  173 Views
अकेला

फूलों की सेज ना सही बिस्तर तो मेरा है सहूंगा काँटों की चुभन भले यूँही अकेला ये वतन जितना तेरा है उतना मेरा भी तो है हक़ की राह पर लड़ता रहूंगा भले अकेला इसी सरज़मींन पर बाप अजदाद दफ़न है कफ़न में लिपटकर मुझे भी रहना अके

Wo Log Aur The

0
12 -Jun-2019 Bimal Shahi Politics Poem 0 Comments  273 Views
Wo Log Aur The

Jo kar gaye prachar, wo log aur the Vaade kiye hazar, wo log aur the Jitne kiye the vaade, sabse mukar gaye Janta to thi hi pagal, jite ji mar gaye Jo karte the inse pyar, wo log aur the Jo kar gaye prachar, wo log aur the Vaade kiye hazar, wo log aur the Janta to thi murakh, fir se chhale gaye Jo the daku lootere, wo Delhi chale gaye Jo bana liye sarkar, wo log aur the Jo kar gaye prachar, wo log aur the Vaade kiye hazar, wo log aur the Humne chuna tha unko, jinka daaman tha bedaag Aankhon ke samne se, chor loot kar gaye bhag Jo dikhte the ima

जनक छंद (2019 चुनाव)

0
08 -Jun-2019 Naman Politics Poem 0 Comments  417 Views
जनक छंद (2019 चुनाव)

जनक छंद (2019 चुनाव) करके सफल चुनाव को, माँग रही बदलाव को, आज व्यवस्था देश की। *** बहुमत बड़ा प्रचंड है, सत्ता लगे अखंड है, अब जवाबदेही बढ़ी। **** रूढ़िवादिता तोड़ के, स्वार्थ लिप्तता छोड़ के, काम करे सरकार यह। *** राजनीति की स्वच्

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017