Halwahe Aur Bail

0
18 -Nov-2017 Bas Deo Sharma Profession Poems 0 Comments  17 Views
Halwahe Aur Bail

Halwahe aur Bail (Farmers and Ox) Here is the hindi poem about ancient and modern farming. In early days farming was an profitable profession. Farmers were use traditional methods for farming. They used animals like ox for ploughing farms. Farming was an respectable profession. These day due to latest technologies the methods of farming have been entirely changed. Although these day due to advanced technologies the production of farmers have been increased but the financial conditions of farmers are not improved. The changes in climate have mad

हाँ!! मैं कवि हूँ...

1
03 -Nov-2017 Thakur Gourav Singh Profession Poems 2 Comments  72 Views
हाँ!! मैं कवि हूँ...

अक्सर लोग है पूछते कौन हो तुम? क्या है तुम्हारा काम? क्या देगा तुम्हें ये? क्या है तुम्हारी मंजिल? एक पल के लिए मैं सहम जाता हूँ क्या जवाब दूँ उन्हें समझ न पता हूँ फिर दिल में आई एक बात हाँ! मैं हूँ कवि दिलो को बहलाता

Teacher ban gya main

0
23 -Oct-2017 RANJEET Radhe Mishra Profession Poems 0 Comments  47 Views
Teacher ban gya main

वो सुबह का जागना बच्चों की तरह तैयार होकर स्कूल जाना समय पर नहा कर नाश्ता करना कैसे ये सब सीख गया हूँ मैं लगता है टीचर बन गया हूँ मैं वो क्लास की घंटी बजना वो छोटे बच्चो पर डपटना शरारती बच्चो को पीटना कितना बदल गया

शब्द कुम्हार...।।

0
शब्द कुम्हार...।।

शब्द कुम्हार...।। "शब्द कुम्हार" हाँ मैं एक "शब्द कुम्हार" ही तो हूँ गढ़ता हूँ नित्य मैं शब्द नये रोज रुप इन्हे नया मैं देता हूँ ढालता हूँ सोच के साचें में इनको ख्यालों का जामा पहनाता हूँ चढ़ाता हूँ भावनाओं की चक्की पर

कलम

0
01 -Sep-2017 Anju Goyal Profession Poems 0 Comments  106 Views
कलम

 कलम भी क्या तन्हाई  की गजब  साथी  होती है अनकहे उलझे सवालों को शब्दों में पिरो देती  है । लफ्जो के उठे तूफा को साहिल तक पहुँचा देती है बिना लव खोले दिल के दर्द को जाहिर कर देती है लाख कोशिश करो छिपाने की दर्दो को जम

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017