Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

भारत का गणतंत्र अनूठा

0
24 -Jan-2019 DINESH CHANDRA SHARMA Republic Day Poems 0 Comments  3,088 Views
भारत का गणतंत्र अनूठा

भारत का गणतंत्र अनूठा नील गगन में बड़ी शान से , आज तिरंगा फहराया | भारत का गणतंत्र अनूठा , सारे जग को बतलाया || पराधीन भारत माता ने , जाग के ली अंगडाई थी | वीरों की टोली की टोली , शीश चढाने आयी थी | आज़ादी की जंग चली जब , देख फि

0
22 -Feb-2018 Satyaveer Republic Day Poems 0 Comments  1,574 Views

लो आज छब्बीस जनवरी का दिन आया

0
25 -Jan-2018 Akshunya Republic Day Poems 2 Comments  6,426 Views
लो आज छब्बीस जनवरी का दिन आया

लो आज छब्बीस जनवरी का दिन आया, सबके दिलों में तिरंगा लहराया। किसी की प्रोफाइल, तो किसी के फेसबुक में फिर से है तिरंगा छाया। लो आज छब्बीस जनवरी का दिन आया।। आज एक साल बाद फिर से सबको देश का है ख्याल आया। छोटे छोटे मु

हिन्दू हो या चाहे मुसलमान

0
24 -Jan-2018 Sushil Kumar Republic Day Poems 0 Comments  6,678 Views
हिन्दू हो या चाहे मुसलमान

चलो आज जवानो को दें सलाम, चाहे वो हिन्दू हो या चाहे मुसलमान, देश के लिए देशवासियों करो श्रमदान, फिर बने सोने की चिड़िया हम सबका हो यही अरमान!! आज सब छोड़ दो अपना सारा काम, याद करो उनको जिन्होंने भारत को किया आजाद, उन व

मत घबराओ वीर जवानों

0
12 -Jan-2018 Aathrv kumar Dixit Republic Day Poems 1 Comments  11,761 Views
मत घबराओ वीर जवानों

मत घबराओ, वीर जवानों -२ वह दिन भी आ जाएगा। जब भारत का बच्चा बच्चा देशभक्त बन जाएगा।। कोई वीर अभिमन्यु बनकर , चक्रव्यू को तोड़ेगा कोई वीर भगत सिंह बनकर अंग्रेजो के सिर फोढेगा।। धीर धरो तुम वीर जवानों , मत घबराओ वीर ज

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017