Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

हिन्दू हो या चाहे मुसलमान

0
24 -Jan-2018 Sushil Kumar Republic Day Poems 0 Comments  5,900 Views
हिन्दू हो या चाहे मुसलमान

चलो आज जवानो को दें सलाम, चाहे वो हिन्दू हो या चाहे मुसलमान, देश के लिए देशवासियों करो श्रमदान, फिर बने सोने की चिड़िया हम सबका हो यही अरमान!! आज सब छोड़ दो अपना सारा काम, याद करो उनको जिन्होंने भारत को किया आजाद, उन व

मत घबराओ वीर जवानों

0
12 -Jan-2018 Aatharav Kumar Dixit Republic Day Poems 0 Comments  10,640 Views
मत घबराओ वीर जवानों

मत घबराओ, वीर जवानों -२ वह दिन भी आ जाएगा। जब भारत का बच्चा बच्चा देशभक्त बन जाएगा।। कोई वीर अभिमन्यु बनकर , चक्रव्यू को तोड़ेगा कोई वीर भगत सिंह बनकर अंग्रेजो के सिर फोढेगा।। धीर धरो तुम वीर जवानों , मत घबराओ वीर ज

प्यारा हिन्दुस्तान बनाना है / Pyara hindustan banana Hai

0
10 -Jan-2018 Rohit kumar Ambasta Republic Day Poems 3 Comments  4,427 Views
प्यारा हिन्दुस्तान बनाना है / Pyara hindustan banana Hai

छोड़ हिंसा को, अहिंसा अपनाकर हमें दिखाना है बापू के आदर्शों पे भी चल के हमे बताना है नई सदी के लोग हैं हम कुछ कर के हमें दिखाना है आओ मिल कर के हम सब को प्यारा हिन्दुस्तान बनाना हैl शिक्षित अगर पूरा समाज हो जाए तो ये

Gantantra Hamara Hai

0
Gantantra Hamara Hai

"गणतंत्र" आओ कि आया "राष्ट्र पर्व" गणतंत्र हमारा है.!! हिन्द देश के वासी हम "जय हिन्द" जय घोष हमारा है..!! हर तरफ देखो लग रहा "जय हिन्द" का नारा है.!! लिए तिरंगा हाथ में देश, झूम रहा आज सारा है.!! तीन रंगों में रंगा तिरंगा सब रं

Gantantra Diwas par

1
25 -Jan-2017 Jyoti Republic Day Poems 0 Comments  3,648 Views
Gantantra Diwas par

आओ करे प्रतिज्ञा हम सब इस पावन गणतन्त्र दिवस पर हम सब बापू के आदर्शों को अपनायेगे नया समाज बनायेंगे भारत माँ के वीर सपूतों के बलिदानों को हम व्यर्थ न जानें देंगे जाति ,धर्म के भेदभाव से ऊपर उठकर नया समाज बनायेंगे

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017