Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

Jaagriti

2
26 -Jan-2015 Rachana Goyal Republic Day Poems 1 Comments  3,322 Views
Jaagriti

****जाग्रति****

जागो – जागो हे भारत-वासी !
अब भी है कुछ प्रकाश बाकी !!

भटक गए हो जो राह से अपनी ,
ढूंढो-ढूंढो बापू के पद चिन्हो को ,
जिनका कर्म सत्य, धर्म अहिंसा ,
जीवन रहा है शांति का पुजारी !!

जागो – जागो हे भारत-वासी !
अब भी है कुछ निशान बाकी !!

इंसानियत का कर के खून ,
अपनी ही माँ के अंगो को ,
जो तुमने किया है लहूलुहान !
आज उन्ही घावो मे ,
चलने लगे है सांप्रदायिकता के कीड़े ,
भर दो इन घावो को प्रेम के मरहमों से !!

जागो – जागो हे भारत-वासी !
अब भी है कुछ आस बाकी !!

भूल गए हो उन आदर्शो को ,
जिनसे बना था संविधान हमारा !!
आओ आज सब इस तिरंगे तले ,
फिर याद करे उन्ही आदर्शो को !!

जागो – जागो हे भारत-वासी !
अब भी है कुछ अवशेष बाकी !!

जागो – जागो हे भारत-वासी !
अब भी है कुछ प्रकाश बाकी !!

***जयहिंद ***

https://www.facebook.com/rachana.goel.16



 Please Login to rate it.



You may also likes


How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

1 More responses

  • poemocean logo
    Sandeep Saxena (Guest)
    Commented on 26-January-2015

    Very very nice.

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017