सच में यार देश बदल रहा है……

3
20 -Sep-2017 Thakur Gourav Singh Social Issues Poems 4 Comments  264 Views
Thakur Gourav Singh

सच में मेरा देश बदल रहा है
गरीब और गरीब हुए जा रहा है
अमीर और अमीर हुए जा रहा है
सच में यारों मेरा देश बदल रहा है
आटा महँगा हो रहा है
डेटा सस्ता हो रहा है
पहले अंग्रेजो ने लुटा
फिर नेताओं ने लुटा
गरीब के थाली से रोटी छीन
वो अपना पेट भरे जा रहा है
सच में यार मेरा देश बदल रहा है
सच में यार मेरा देश बदल रहा है
जिनको पढने की चाह है
वो सड़कों पे अख़बार बेचे जा रहा है
और वो जातिवाद से
पुरे समाज को बर्बाद करे जा रहा है
जातिवाद ने ऐसा जकड़ा है देश को
देश आगे ना जा पा रहा है
किस पे करूँ यकीन?
किस पे करूँ भरोशा?
जब देश का युवा ही
अपने माँ को बेचे जा रहा है
अपने माँ को बेचे जा रहा है
हर एक युवा को अब जागना होगा
अपने आने वाले कल को सवारना होगा
अगर अब भी करी थोड़ी सी भी देर
फिर जीवन भर भुगतना होगा
अरे साहब! कौन केहता है की मेरा देश नही बदल रहा है
सच में यार मेरा देश बदल रहा है
सच में यार मेरा देश बदल रहा है।।


ठाकुर गौरव सिंह
#अल्फ़ाज़❤से




Please Login to rate it.




How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

4 More responses

  • poemocean logo
    Taniya mehta (Registered Member)
    Commented on 22-September-2017

    Vry true n heart touching poem.. proud of you my Bhai.. .

  • poemocean logo
    Ritu Patel (Guest)
    Commented on 21-September-2017

    Thakurji,
    Yaar aaj to aapne dil ko aar paar hi kar diya...
    Bilkul sach likha hai aapne...
    Aapki haar kahi baatein sachi....

  • poemocean logo
    Mitesh jha (Guest)
    Commented on 21-September-2017

    क्या खूब कहा आपने यार वाह
    ऐ काश की ये कविता हमारे देश के प्रधानमंत्री एवं देश के हर प्रदेश के मुख्यमंत्री तक पहुचे और उन्हें एहसास हो आम आदमी की परेशानी।।
    ऐसे ही कविता लिखते रहिये।
    हमारी दुआ आपके साथ है।

    शुक्रिया
    ठाकुर गौरव सिंह जी.

  • poemocean logo
    Ritika Tripathi (Guest)
    Commented on 21-September-2017

    Sach me mera desh badal raha hai.... Woah... Awsum poem....
    Rhyming awesome
    Poem Fabulous
    Poet Best of Best...
    Keep on writing poems like ds....

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017