Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

परिन्दें जो उड़कर गए है।

0
27 -Jan-2022 ताज मोहम्मद Sad Poems 0 Comments  13 Views
परिन्दें जो उड़कर गए है।

लौटकर आएंगे वह परिन्दें जो उड़कर गए है। बैठते कहाँ शजरो पे यूँ पत्ते भी ना रह गए है।।1।। सोचा कुछ दूर जाने पे वह पलट कर देखेगा। बेहिस वो ना पलटा है हम देखते ही रह गए हैं।।2।। महफ़िल में बुलाया था हमको ना पता था यह। वो ह

दिल तड़प के रो रहा है।

0
27 -Jan-2022 ताज मोहम्मद Sad Poems 0 Comments  11 Views
दिल तड़प के रो रहा है।

दिल तड़प कर रो रहा है। अब कोई अरमां ना हो रहा है।।1।। परिन्दें सारे यहाँ से उड़ गए है। यादों में बस बागों के निशां रह गए है।।2।। सारी दुनिया पर वैसे तो हुकूमत चल रही है। पर कभी कभी तुम्हारी कमी भी खल रही है।।3।। तितली ब

Human too

0
27 -Jan-2022 Unoriginalised Sad Poems 0 Comments  0 Views
Human too

Dear sadness i don't hate you for you cover me like a warm blanket when nights are cold Dear tears I don't resent you for you hold my hand when I'm alone Dear worries I don't loath you for you have been my needle in intricacies of life Dear anger I don't abhor you for you rose when I was broken inside Dear fear I don't detest you for you have stopped me from doing wrong Dear frustration i don't damn you for push me towards my wants Dear shame I don't despise you for you have declouded my eyes Dear grief I don't dislike you for are a sign I'm a

रोना ना तुम।

0
15 -Jan-2022 ताज मोहम्मद Sad Poems 0 Comments  18 Views
रोना ना तुम।

रोना ना तुम जो हम कभी कफ़न में अपनें घर को आए। समझ लेना वो सब कुछ जो भी हम तुमसे ना कह पाए।।1।। हमें माफ कर देना जो तुमसे किया वादा ना निभा पाए। बात थी सदा साथ देने की पर हम मौत से ना लड़ पाए।।2।। सबका मैं लख्ते जिगर था पर

ज़िंदगियाँ बड़ी खुदगर्ज़ है।

0
18 -Dec-2021 ताज मोहम्मद Sad Poems 0 Comments  113 Views
ज़िंदगियाँ बड़ी खुदगर्ज़ है।

लोगो की ज़िन्दगियाँ बड़ी खुद गर्ज़ है। सबको यहाँ बस अच्छे की ज़रूरत है।।1।। क्या दुश्मन क्या दोस्त सब ही है यहाँ। महफ़िल से हमारा आदाब-ए-अर्ज़ है।।2।। हर किसी का होना है हिसाब किताब। मिल जाता है सब को ही यहाँ अज्र है।।3।

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017