ये विस्मय ब्रह्मांड

0
20 -May-2017 Neha Sonali Agrawal Science Poems 0 Comments  163 Views
ये विस्मय ब्रह्मांड




योग सुधा -सूर्य योग का भी उगा

0
25 -Mar-2017 DINESH CHANDRA SHARMA Science Poems 0 Comments  197 Views
योग सुधा -सूर्य योग का भी उगा

योग सुधा- सूर्य योग का भी उगा ++++++++++++++++ गूंजी जब वैदिक ऋचा , जगती में चहुँ ओर | सूर्य योग का भी उगा , हुई रुपहली भोर || ऋषियों ने अनुभव किया, सीमायें इस छोर | हैं अनंत संभावना , जीवन में उस ओर || वैदिक गोमुख से हुआ ,गंगा सम संजोग

विविधामयी प्रकृति

0
24 -Feb-2017 DINESH CHANDRA SHARMA Science Poems 0 Comments  580 Views
विविधामयी प्रकृति

विज्ञानं कविता – विविधामयी प्रकृति विविध रहस्यों वाली प्रकृति ,गोद में अभिनव अचरज होते | सब कुछ अजब गजब लगता है ,गर तुम इसको जाओ पढ़ते || छोटे छोटे पौधों का भी, एक अद्भुत संसार है | और बड़े पेड़ों की भी तो, लीला अपरम्प

इसरो ने परचम लहराया

0
17 -Feb-2017 DINESH CHANDRA SHARMA Science Poems 0 Comments  769 Views
इसरो ने परचम लहराया

इसरो ने परचम लहराया | +++++++++++++ बैलों की गाड़ी से चलकर ,शत नैनो उपग्रह तक आया | देख रही हैरत से दुनिया , इसरो ने परचम लहराया || बैलों की गाड़ी पर लादा , साइकिल पर रखकर पहुचाया | नारियल के पेड़ों को अपना , अद्भुत लॉन्चिंग पैड ब

Sounds Of Nature

0
08 -Jun-2016 sukarma Thareja Science Poems 0 Comments  706 Views
Sounds Of Nature

Sounds of Nature Self studying Chemistry is retreat, In the sounds of nature, All concept I quietly seek Sukarma Rani Thareja Alumnus IIT-K (1986) Associate Professor Department of Chemistry Ch Ch College CSJM Kanpur University up ,India

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017