Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

आपदा और दान

0
27 -Mar-2020 satyadeo vishwakarma Social Issues Poems 0 Comments  76 Views
आपदा और दान

आपदा और दान सब्जी लेने मंडी कल जैसे ही पहुंचा जनाब, होश मेरे उड़ गए भाव सुनकरके जनाब। सब्जीवाले ने कहा समय सबसे बलवान है, साहब ए कोरोंना अब सर्वशक्तिमान है। आपदा के दौर मे इंसानियत दिखती नहीं , दुगुने दामो पर भी अब

"कोरोना" का उपचार.......(कविता)

0
26 -Mar-2020 Piyush Raj Social Issues Poems 0 Comments  170 Views

चीन से आई है एक ऐसी बीमारी जो आज बन गयी है यह महामारी नाम है इसका 'कोरोना' पर आप इससे डरो ना ये बीमारी आपको नही सताए बता रहे आपको बचने के उपाय संक्रमित लोगो से फैलता ये रोग यही है सलाह करो मास्क का प्रयोग इससे बचने के

कोरोना वायरस- घर से बाहर ना जाओ तो (CORONA VIRUS- GHAR SE BAAHA NA JAO TAU)

0
23 -Mar-2020 Dr. DINESH KUMAR KOLI Social Issues Poems 0 Comments  144 Views
कोरोना वायरस- घर से बाहर ना जाओ तो (CORONA VIRUS- GHAR SE BAAHA NA JAO TAU)

घर से बाहर ना जाओ तो एक कोरोना, एक-एक का रोना मुश्किल कर दिया, सबका सोना पर फिर भी तुम, इससे डरो ना रगड़-रगड़ साबुन से है धोना अगर रहोगे सावधानी से, इसको भी पड़ जाएगा रोना यह इंसानों का दुश्मन है, वार जो छिपकर करता है, घ

करोना का क़हर

0
21 -Mar-2020 Abbas Bohari Social Issues Poems 0 Comments  144 Views
करोना का क़हर

करोना के क़हर से बचने के आओ बताऊँ उपाय पवित्रता से हर नागरिक पाले ना बनेगा असहाय रुक रुक कर धोते रहे आधा मिनट साबुन से हाथ बिताये घर में ही सारा वक़्त छोड़ दे दोस्तों का साथ अस्वच्छ हाथों से ना छुए बारबार नाक कान आँख

डर के आगे है ज़िन्दगी

0
19 -Mar-2020 Abbas Bohari Social Issues Poems 0 Comments  188 Views
डर के आगे है ज़िन्दगी

करोना करोना करोना इसके डर से तुम डरो ना मौत हयात मालिक के हाथ जीते जी यूँ मरो ना समझकर वरदान परिवार संग वक़्त बिताओ ना जिंदगी के तज़ुर्बे नाती पोते बच्चों को सुनाओ ना बरतकर एहतीआत खुली चीज़ों को यूँही छूओ ना बनाये र

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017