Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

शिक्षक का दर्द- वर्तमान में ..

0
04 -Sep-2021 Mala Pahal Teacher Day Poem 0 Comments  83 Views
शिक्षक का दर्द- वर्तमान में ..

शिक्षक का दर्द- वर्तमान में .. कहाँ गए वो दिन सुनहरे! शाला में प्रवेश करते ही, अभिवादन करते बच्चे प्यारे, श्यामपट को रंगीन बनाते, चाॅक से सनी उँगलियों को निहारते, बच्चों की मस्ती देखते, खुशी मनाते,खुशी बांटते, बच्चो

शुक्रिया मेरे प्यारे फरिश्तों ।।

0
21 -Dec-2020 Princy Shukla Teacher Day Poem 0 Comments  853 Views
शुक्रिया मेरे प्यारे फरिश्तों ।।

शुक्रिया मेरे प्यारे फरिश्तों ।। आज दिन है उन सबका जिनसे हमे मिली है शिक्षा आज दिन है उन सबका जिनसे मिला जीवन का ग्यान ये वो है फरिश्ते है जिनसे मुझे हर राह पर मिला हौसला ये वो है फरिश्ते जिन्होंने मुझे कभी भटकने

शिक्षक दिवस

0
04 -Sep-2020 Dr. Swati Gupta Teacher Day Poem 0 Comments  582 Views
शिक्षक दिवस

आदरणीय शिक्षकगणों को हमारा नमस्कार, जिन्होंने हमारे जीवन को दिया सँवार। माता और पिता बने प्रथम गुरु हमारे, दी हमें अच्छी परवरिश व उचित संस्कार। रखा कदम जब हमने विद्यार्थी जीवन में, गुरुजनों ने किया हमारा ज्ञान

गुरु पूर्णिमा

0
12 -Jul-2020 Dr. Swati Gupta Teacher Day Poem 0 Comments  1,342 Views
गुरु पूर्णिमा

चिंतन किया जब प्रथम गुरु का, माँ का चेहरा मेरे सामने आया, बातों ही बातों में माँ ने हमको, शब्द ज्ञान से परिचय दिलाया, जन्म लिया तब मूक थे हम, माँ ने ही हमें बोलना सिखाया, कभी सुनाई परियों की कहानी, पौराणिक कथा का ज्ञा

Shikshak shishya ko

0
04 -Sep-2019 Harjeet Nishad Teacher Day Poem 0 Comments  727 Views
Shikshak shishya ko

Shikshak shishya ko sab kuchh sikhata hai. Gyan ke marg per age badhata hai. Shishya ki khubiyon ko shikshak janata hai. Hire ki tarah nit usko tarasata hai. Guru hi agyan ka parda hatata hai. Deta hai gyan agyanata mitata hai. Sansar to keval bhramon men fansata hai. Guru hamesha sachchi rah per chalata hai. Mushkilon ka samana karna sikhata hai. Buddhi ko shuddh ker vidvan banata hai. Apane ap ki pahchan guru karata hai. Har ker jeetane ka huner guru sikhata hai.

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017