Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

Shikshak divas manayen ham

0
28 -Aug-2018 Harjeet Nishad Teacher Day Poem 0 Comments  315 Views
Shikshak divas manayen ham

Pragati marg ka agra doot hota shikshak. Her manav me sadgun hi bharata shikshak. Age badhate jana sada sikhata hai ye, Asafal ko bhi safal banata hai shikshak. Shikshak ka samman karen sammanit hon. Gunon se bher jayen ham bhi gauranvit hon. Uncha mila akash uden unchai per, Thoker se na ghabrayen ashanvit hon. Len gun auron se ham nij avgun tyagen. Her badha se bhidane ki takat mangen. Chalane se na ruken badhen age nikalen. Suraj chadha hai alas nidra se jagen Panch Sitember shikshak divas manayen ham. Sadprerana Radhkrishnan ji se payen ham

शिक्षक दिवस / Shikshak Diwas

0
27 -Aug-2018 Aafreen Anjum Teacher Day Poem 0 Comments  452 Views
शिक्षक दिवस / Shikshak Diwas

शिक्षा का पाठ पढाते है, हमे नेक इंसान बनाते है। दिलो के अवगुण को मिटाके, सच्चे पथ पर चलना सिखाते। जीवन मे हौँसलो की उड़ान भरते, नए लक्ष्यों को पाने मे एक मात्र सहारा बनते। शिक्षक का है बड़ा स्थान, बच्चों करो इनका म

कभी कभी सोचता हूँ...

0
14 -Dec-2017 Thakur Gourav Singh Teacher Day Poem 1 Comments  757 Views
कभी कभी सोचता हूँ...

कभी कभी सोचता हूँ दूर रहूँ अच्छे लोगों से क्योंकि बड़ी तकलीफ़ होती है इनसे मिलकर बिछड़ने से लेकिन ज़िन्दगी के कुछ उसूल होते है ये फैसले भी हमे जबरदस्ती कबूल होते है इस रात जैसी कठिन घर मे खूबसूरत सपने लगते थे सच कहूँ

गुरू की महिमा

0
18 -Sep-2017 Aakash Parmar Teacher Day Poem 0 Comments  552 Views
गुरू की महिमा

दिया आपने मुझे हर पल सहारा, जब भी मैं खुद से हारा, धैर्यता का आपने पाठ पढ़ाया, हर संकट में जीना सिखाया, ज्ञान दिया शब्दों का आपने, समझना सिखाया भावनाओं को आपने, नासमझ नन्ही कली सा ये मन, शिक्षा के आंगन में खिलाया आपन

हमारे अध्यापक गण

0
04 -Sep-2017 सुमित.शीतल Teacher Day Poem 0 Comments  677 Views
हमारे अध्यापक गण

आदर-भाव करे अध्यापक गणो का, देते अनमोल शिक्षा हम सब को आज.! जिनके लिए हम सदा रहेगे आभारी,और हममें से कुछ को मिल जाए ताज.!! अपना जीवन कैसा होगा.! ये सब इन पर निर्भर होगा.!! इन पर सदा भरोसा करना.! नही कभी इनका निरादर करना.!! प्

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017