Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

तू नही पास मेरे तो एहसास है,

0
27 -Oct-2019 Shivendra Singh Lonely Poems 1 Comments  821 Views
Shivendra Singh

गीत....!!!



तू नही पास मेरे तो एहसास है
तुझसे मिलने को मुझको बडी आस है |२
बस बची हुई एक
आखिरी सांस है,
तू गर ना मिले तो
फिर ना वो मेरे पास है |२
तू नहीं पास मेरे तो एहसास है |

लाखों अरमा लिए मेै चला जा रहा,
मुझे खुद ना खबर मैं किधर जा रहा . २
तेरी यादों के साए में
मै पडा ही रहा,
भीड़ में भी मै तन्हा खडा ही रहा |२

जिंदगी एक अजब मोड़ पर आ खड़ी,
कभी सोचा न था ये कहा ला पडी़ |२
चल रहा भीड़ में मै जमाने के संग,
क्यों फीका पड़ा मेरे जीवन का रंग |२

वो वादे वो कश्मे सब पास है,
तू नही पास मेरे तो ना कुछ साथ है | २
लोग मिलते बहुत है भले राह में,
छोड तन्हा चले वो मंजिल की चाह में |२
कभी सोचा ना था!
ये क्या हो गया,
जीवन कहा से
कहा खो गया!! २

शिवेन्द्र सिंह ...



 Please Login to rate it.



You may also likes


How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

1 More responses

  • poemocean logo
    Divesh dwivedi (Guest)
    Commented on 27-September-2021

    Very beautiful line sir.

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017