Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

समय बड़ा बलवान

0
28 -Apr-2022 Harjeet Nishad Time Poems 0 Comments  111 Views
समय बड़ा बलवान

समय बड़ा बलवान। शिक्षक सबसे महान। समय की है कीमत। समय रब की नेहमत। समय मिला समझ नहीं। समझ मिली समय नहीं। ये अपनी गति से चलता। किसी की न सुनता। मुश्किल रोक पाना। समय को टोक पाना। करो सही इस्तेमाल। समय करेगा निहाल।

पल-पल मैं समय को

0
23 -Apr-2022 Swami Ganganiya Time Poems 0 Comments  135 Views
पल-पल मैं समय को

*** ** ** *** पल-पल मैं समय को यूं ही बिताता गया आज समय है कल भी आएगा अभी जिंदगी बाकी है यही सोच रही एक दिन सब कुछ लूट जाएगा ना जाने वह कौन घड़ी होगी जब समय की कदर होगी मौत आई और चली गई वक्त की सुई फिर भी यूं ही चलती गई ना कल थमी

मैं एक पल हूँ

0
23 -Apr-2022 Swami Ganganiya Time Poems 0 Comments  84 Views
मैं एक पल हूँ

*** ** ** ** *** मैं एक पल हूं आता हूं और पल में चला जाता हूं मुझे ढूंढेगा कहा मैं सारे जहां मैं समाता हूं आज पास हूं कल दूर में जाता हूं आज खोया हूं कल फिर मैं लौट आता हूं यही जिंदगी है तो मैं इस जिंदगी में कहां समाता हूं आज हू

वक्त की बचत

0
17 -Apr-2022 Kalachand Sadhu Time Poems 0 Comments  53 Views
वक्त की बचत

मेरे अपनों ने वक्त का बचत करना सिखाया हमें, और हमसे ज्यादा खुद वक्त की बचत करने लगे हैं। पहले तो हर वक्त बात करते थे हमसे, अब तो सिर्फ हमें दिल से याद करने लगे है। हमने उसूल बनाया जो यादों में है रखते हमें, आजकल हम भी

नवयुग के नवल वर्ष शत-शत नमन

0
31 -Dec-2021 rtripathi Time Poems 0 Comments  71 Views
नवयुग के नवल वर्ष शत-शत नमन

चंदन सी खुशबू हो तुम में मन रूप निहाल करो नवयुग के नवल वर्ष जीवन में सुख समृद्धि लाओ ज्ञान की धारा प्यार का झरना युग युग तुम नित्य नवीन करो ओ नवयुग के नवल वर्ष जीवन को रसपूर्ण करो .

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017